दुर्घटनाग्रस्‍त विमान का ब्‍लैक बॉक्‍स बरामद

दुर्घटनाग्रस्‍त विमान का ब्‍लैक बॉक्‍स बरामद

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

<p xmlns="http://www.w3.org/1999/xhtml">
<b>इस्‍लामाबाद:
</b>पाकिस्तान के इस्लामाबाद
में शुक्रवार शाम एक बोइंग 737
विमान खौफनाक हादसे का शिकार
हो गया. विमान में सवार सभी एक
127 लोगों की मौत हो गई.  हादसे
में मारे गए 40 शवों की पहचान
कर ली गई है. इनमें से 23 शव
परिवार वालों को सौंपे भी जा
चुके हैं. <br /><br />अधिकारियों ने
पहचान में मुश्किल होने पर
डीएनए टेस्ट कराने का फैसला
भी किया है. हादसे की जांच
पूरी होने तक भोजा एयर के
मालिक फारुक भोजा के
पाकिस्तान से बाहर जाने पर
रोक लगा दी है.<br /><br />हादसे के
वक्त विमान में 127 यात्री सवार
थे. सभी के मारे जाने की खबर
है. कराची से इस्लामाबाद जा
रहे विमान के हादसे का शिकार
होने की खबर सुनते ही विमान
में सवार यात्रियों के
रिश्तेदार गम में डूब गए. इस
विमान हादसे में किसी का बेटा
हमेशा-हमेशा के लिए जुदा हो
गया, तो किसी की बेटी और बहू.  <a
href="http://star.newsbullet.in/video/world/27732-2012-04-20-17-08-41">वीडियो
देखें</a><br /><br />भोजा एयरलाइंस के
बोइंग 737 विमान ने शाम 5:00 बजे
कराची से इस्लामाबाद के लिए
उड़ान भरी थीद्व लेकिन शाम 6:40
पर विमान का एयर ट्रैफिक
कंट्रोल यानी एटीसी से
संपर्क टूट गया. इसके पांच
मिनट बाद ही 6:45 मिनट पर विमान
इस्लामाबाद से सटे
हुसैनाबाद के पास एक रिहायशी
इलाके में जा गिरा. <a
href="http://star.newsbullet.in/video/world/27723-2012-04-20-16-16-41">वीडियो
देखें</a><br /><br />बताया जा रहा है
कि विमान में हवा में ही आग लग
गई थी, जिसके चंद मिनट बाद यह
भयानक हादसा हो गया. मौसम
खराब होने की वजह से
राहतकर्मियों को मलबा हटाने
और शवों को निकालने में काफी
मुश्किलों का सामना करना
पड़ा. राहत और बचाव के काम में
सेना की मदद भी ली जा रही है.<br /><br />हालात
का जायजा लेने के लिए
पाकिस्तान के गृह मंत्री
रहमान मलिक भी देर रात मौके
पर पहुंचे. विमान हादसे में
मारे गए लोगों के परिवार पर
दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है.<br />कराची
और इस्लामाबाद एयरपोर्ट पर
मृतकों की सूची में अपनों का
नाम देखते ही लोगों का
रो-रोकर बुरा हाल हो रहा था.
भोजा एयरलाइंस के
कर्मचारियों के रिश्तेदार
भी सदमे में हैं.<br /><br />सवाल उठ
रहे हैं कि इस हादसे के लिए
जिम्मेदार कौन है? किसकी वजह
से 127 लोगों की दर्दनाक मौत
हुई है? क्या खराब मौसम की वजह
से हादसा हुआ या विमान में
कोई गड़बड़ी थी?<br /><br />यह सवाल
इसलिए भी उठ रहे हैं क्योंकि
आर्थिक तंगी के कारण भोजा
एयरलाइंस पर साल 2000 में
पाबंदी लगा दी गई थी, लेकिन
भोजा की दोबारा उड़ान की
इजाजत ने 127 बेकसूर लोगों की
जान ले ली. <span class="video-icon"><a
href="http://star.newsbullet.in/video/india/27739-2012-04-21-04-46-33">वीडियो
देखें</a></span><br /><br />बचाव दल को देर
रात विमान का ब्लैक बॉक्स मिल
गया है, जिससे इन सवालों का
जवाब खोजने में मदद मिलेगी.<br /><br />उधर,
राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी
और प्रधानमंत्री यूसुफ रजा
गिलानी ने इस दुर्घटना पर
शोक-संवदेना प्रकट की है.
प्रधानमंत्री गिलानी ने
घटना के जांच के आदेश दिए हैं.
हादसे की जगह पर अंधेरा होने
के चलते बचाव और राहत कार्य
चलाने में मुश्किल आ रही है.<br /><br />भारतीय
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
ने हादसे पर शोक व्यक्त किया
है और मारे गए लोगों और उनके
परिजनों के प्रति संवेदना
जताई है.<br /><br />प्रधानमंत्री
गिलानी ने ग्रुप कैप्टन
मुजाहिदुल इस्लाम की
अध्यक्षता में दुर्घटना की
जांच का आदेश दिया है.<br /><br />प्रधानमंत्री
के निर्देश पर इस्लामाबाद और
कराची हवाईअड्डे पर बचाव
अभियान से जुड़े दो केंद्र
बनाए गए हैं, जहां से हादसे के
पीड़ितों के बारे में
जानकारी हासिल की जा सकती है.
</p>
<p xmlns="http://www.w3.org/1999/xhtml">
<br />
</p>
<p style="text-align: justify;">
<b>संबंधित खबरें</b>
</p>
<p xmlns="http://www.w3.org/1999/xhtml">
<span class="video-icon"><a
href="http://star.newsbullet.in/video/world/27732-2012-04-20-17-08-41">हमेशा-हमेशा
के लिए जुदा हो गए अपने</a></span><br />
</p>
<p xmlns="http://www.w3.org/1999/xhtml">
<span class="video-icon"><a
href="http://star.newsbullet.in/video/india/27739-2012-04-21-04-46-33">मौसम
ने बढ़ाई बचाव दल की मुश्किल</a></span><br />
</p>
<p xmlns="http://www.w3.org/1999/xhtml">
<span class="video-icon"><a
href="http://star.newsbullet.in/video/world/27723-2012-04-20-16-16-41">'मलबे
से निकल रही थीं आग की लपटें'</a></span>
</p>

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बांग्लादेश में हैं 10 लाख से ज्यादा रोहिंग्या शरणार्थी