निंदनीय और अप्रिय है धोनी की कप्तानी: गांगुली

By: | Last Updated: Thursday, 20 February 2014 3:46 AM

नई दिल्ली: विदेशी जमीं पर मिल रही लगातार हार से टीम के पूर्व कप्तानों ने महेन्द्र सिंह धोनी के नेतृत्व और कप्तानी करने के ढंग पर सवाल खड़े कर दिए हैं. भारत के सफलतम कप्तानों में से एक सौरव गांगुली ने जहां धोनी के नेतृत्व झमता पर सवाल उठाते हुए ‘अप्रिय’ करार दिया. वहीं 2007 विश्व कप में भारत का नेतृत्व करने वाले राहुल द्रविड़ ने धोनी की रणनीति पर ही सवालिया निशान लगा दिया है. 

 

 

 

भारत की हार पर गांगुली ने कहा कि यदि 50 ओवरों का विश्व कप अगले साल नहीं होता तो फिर वह धोनी को कप्तानी से हटाने की मांग करते. गांगुली ने कहा, ‘‘उसकी (धोनी की) टेस्ट कप्तानी निंदनीय है. लेकिन अब कप्तान बदलने से टीम अस्थिर हो जाएगी. टेस्ट क्रिकेट में उसका स्थान खतरे में नहीं है लेकिन धोनी को विदेशों के अपने रिकार्ड में सुधार करने की जरूरत है. ’

 

न्यूजीलैंड से दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला 0-1 से गंवाने के बाद धोनी के रणनीति पर सवाल उठाते हुए राहुल द्रविड़ ने कहा कि धोनी एक रक्षात्मक कप्तान है और यदि विदेशों में जीतना है तो रणनीति में बदलाव करते हुए उसे जोखिम उठाना होगा. 

 

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि धोनी को अपने गेंदबाजी आक्रमण पर उतना विश्वास नहीं है जितना होना चाहिए था. मैंने देखा कि यहां तक कि डरबन टेस्ट में उसने 146 ओवर तक नई गेंद नहीं ली थी. असल में उसे नयी गेंद लेने के लिये मजबूर किया गया. उसे अपने तेज गेंदबाजों पर विश्वास नहीं है कि वह विकेट ले सके. ’’ द्रविड़ ने कहा, ‘‘वह पुरानी गेंद लेकर इसलिए खेलता रहा क्योंकि वह रनों पर अंकुश लगाना चाहता था. इसलिए मुझे लगता है कि यह रक्षात्मक मानसिकता है. ’’

 द्रविड़ ने हालांकि इसके साथ ही कहा कि धोनी की टेस्ट कप्तानी का आकलन इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया दौरे के बाद किया जाना चाहिए जिसके बाद आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में अगले साल फरवरी-मार्च में विश्व कप होना है. उन्होंने कहा, ‘‘मैं भारतीय क्रिकेट के लिये इस साल विदेश के इन चार दौरों को महत्वपूर्ण मान रहा था. इनमें दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया शामिल है और फिर अगले साल आस्ट्रेलिया में विश्व कप होना है. यह मान लें कि धोनी भारत के वनडे कप्तान बने रहेंगे और विश्व कप में टीम की अगुवाई करेंगे. मेरा मानना है कि उन्हें इसका पूरा अधिकार है. ’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘और मेरा मानना है कि उसे इस साल खेलने का पूरा अधिकार है तथा आस्ट्रेलियाई दौरे के बाद उसकी कप्तानी का आकलन किया जाना चाहिए. उस श्रृंखला के बाद हमें पता चल जाएगा कि भारतीय क्रिकेट तथा क्रिकेटर और कप्तान के रूप में धोनी किस मुकाम पर खड़े हैं. ’’

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: निंदनीय और अप्रिय है धोनी की कप्तानी: गांगुली
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017