पहली बार सागर में लापता नहीं हुआ है कोई विमान, किस्से और भी हैं

By: | Last Updated: Tuesday, 11 March 2014 7:04 AM

कुआलालम्पुर: आईटी और कम्युनिकेशन की क्रांति के इस दौर में जब कोई भी सूचना सेकेंडों में मिल जाती है पर ऐसे में किसी जेटलाइनर का सागर के उपर से लापता हो जाना चौंका देने वाली बात लगती है लेकिन मलेशिया एयरलाइंस फ्लाइट एमएच 370 के लापता हो जाने से पहली बार यह एहसास नहीं हुआ है कि समुद्र कितने विशाल होते हैं और उनमें खोई किसी चीज को खोजना कितना मुश्किल हो सकता है.

 

अटलांटिक महासागर में 2009 में डूबे एयर फ्रांस के विमान के अवशेषों को ढूंढने में दो साल लग गए थे. इससे पहले 2007 में मलेशिया और वियतनाम के बीच लापता हुए इंडोनेशियाई जेट के मलबे का पता लगाने में एक सप्ताह का समय लगा था. आस्ट्रेलिया में यूनिवर्सिटी ऑफ क्वींसलैंड में अंतरिक्ष टेक्नॉलजी इंजीनियरिंग के प्रोफेसर माइकल स्मार्ट ने कहा, ‘‘दुनिया एक बड़ी जगह है. अगर यह (विमान) सागर के बीच में डूबा हो तो किसी को नहीं पता कि उसे खोजने में कितना समय लगेगा.’’

 

अमेरिकी एयरवेज़ में 25 साल काम करने वाले और अब सेफ्टी ऑपरेटिंग सिस्टम्स के सीईओ कैप्टन जॉन एम. कॉक्स ने कल कहा, ‘‘मुझे पूरा भरोसा है कि हम इस विमान को खोज लेंगे. ऐसा पहली बार नहीं है जब हमें विमान का पता लगाने के लिए कुछ दिन इंतजार करना पड़ा है.’’ कॉक्स ने कहा कि ऐसा लगता है कि विमान अपने सामान्य उड़ान पथ से भटक गया. इसके बाद यह रडार से गायब हो गया होगा.

 

इसके बाद बाकी सब अटकलें है. ‘‘यदि इसमें सामान्य उड़ान पथ पर बीच हवा में विस्फोट हुआ होता तो हम अब तक इसका पता लगा चुके होते.’’

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: पहली बार सागर में लापता नहीं हुआ है कोई विमान, किस्से और भी हैं
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ????? ??????? ??????? ?????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017