बहुत जल्द ही दुनिया के सामने ‘पानी और बिजली’ के संकट का खतरा: संयुक्त राष्ट्र

बहुत जल्द ही दुनिया के सामने ‘पानी और बिजली’ के संकट का खतरा: संयुक्त राष्ट्र

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

पेरिस: संयुक्त राष्ट्र ने आज कहा कि विकासशील दुनिया में बढ़ती आबादी और अर्थव्यवस्था की वजह से आने वाले दशकों में पानी और उर्जा की मांग दोगुनी हो जाएगी. विश्व जल दिवस पर प्रकाशित एक रिपोर्ट में संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि साफ पानी और बिजली की जरूरतें आपस में जुड़ी हैं और इनसे पृथ्वी के सीमित संसाधनों पर बुरी तरह दबाव पड़ सकता है.

 

रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘आने वाले दिनों में बढ़ती आबादी और अर्थव्यस्थाओं, बदलती जीवनशैली और उपभोग के तरीके, सीमित प्राकृतिक संसाधनों एवं पारिस्थितिकी तंत्र पर पहले से बने दबाव के और बढ़ने के साथ ताज़ा पानी और उर्जा की मांग बढ़ती जाएगी.’’

 

पहले से ही 76.8 करोड़ लोगों के पास पानी के सुरक्षित, विश्वसनीय स्रोत नहीं हैं, 2.5 अरब लोगों के पास सफाई की सही व्यवस्था नहीं है और 1.3 अरब से अधिक के पास बिजली के साधन नहीं हैं. रिपोर्ट के अनुसार आज करीब 20 प्रतिशत भूमिगत जल खत्म हो गया है. कृषि के लिए दो तिहाई पानी का इस्तेमाल किया जाता है.

 

विश्व जल विकास रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र शैक्षणिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) की ऐसी पांचवीं रिपोर्ट है. यह रिपोर्ट वैज्ञानिक अध्ययनों और एजेंसियों की जांच से जुटाए गए आंकड़ों के आधार पर तैयार की गयी है.

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2050 तक पानी की वैश्विक मांग 55 प्रतिशत तक बढ़ने की संभावना है. एशिया में जल स्रोतों को लेकर संघर्ष बढ़ सकता है क्योंकि वहां पानी के स्रोत राष्ट्रीय सीमाओं पर फैले हुए हैं.

 

रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘अराल सागर और गंगा-ब्रह्मपुत्र नदी, सिंधु नदी और मेकांग नदी बेसिन आदि को लेकर संघर्ष हो सकता है.’’ वहीं, वैश्विक उर्जा मांग 2035 तक एक तिहाई से अधिक बढ़ सकती है और चीन, भारत और मध्य पूर्व के देशों का इस वृद्धि में 60 प्रतिशत हिस्सा होगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story शहंशाह जायद की तस्वीर बेचने से दुकानदार ने किया मना, मौजूदा किंग मोहम्मद ने की मुलाकात