बांग्लदेश हिंसा में एक की मौत, दर्जनों घायल

By: | Last Updated: Sunday, 10 November 2013 9:06 PM

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>ढाका:</b>
बांग्लादेश में मुख्य
विपक्षी पार्टी की ओर से आहूत
84 घंटे की लगातार आम हड़ताल के
पहले दिन रविवार को हिंसा की
घटनाओं में एक व्यक्ति मारा
गया और पुलिसकर्मियों सहित
दर्जनों लोग घायल हो गए.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के
मुताबिक राजधानी से करीब 242
किलोमीटर दूर चटगांव में
हमलावरों के खदेड़ने के कारण
आटो रिक्शा पलट जाने से उसमें
सफर कर रहे निर्मल दास (45) की
मौत हो गई.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
बांग्लादेश की पूर्व
प्रधानमंत्री खालिदा जिया
के मुख्य विपक्षी गठबंधन ने
शुक्रवार को रविवार से 72 घंटे
तक हड़ताल की घोषणा की थी.
गठबंधन देश में अगले वर्ष 2014
में होने जा रहे चुनाव से
पूर्व गैर दलीय कार्यवाहक
सरकार गठित करने की अपनी मांग
पर दबाव डालने के लिए हड़ताल
की घोषणा की थी.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
बांग्लादेश में विपक्ष के
पांच शीर्ष नेताओं को
शुक्रवार और शनिवार को
गिरफ्तार कर लिया गया. इन
नेताओं को पुलिसकर्मियों की
हत्या करने के कथित प्रयास और
राजधानी में हिंसा करने के
आरोप में गिरफ्तार किया गया
है.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
गिरफ्तार किए गए नेताओं में
बांग्लादेश नेशनलिस्ट
पार्टी (बीएनपी) की स्थायी
समिति के सदस्य मोउदुद अहमद,
एम.के. अनवर और रफिकुल इस्लाम
मिया और बीएनपी की अध्यक्ष
खालिदा जिया के सलाहकार
अब्दुल अवाल मिंटू और जिया के
विशेष सहायक शमशुर रहमान
शिमुल विश्वास शामिल हैं.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
नेताओं की गिरफ्तारी का
विरोध करते हुए विपक्षी
गठबंधन ने 72 घंटे की हड़ताल को
12 घंटा और बढ़ा दिया.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
हड़ताल समर्थकों और पुलिस
समर्थित बांग्लादेश आवामी
लीग (एएल) के कार्यकर्ताओं के
बीच बड़े पैमाने पर संघर्ष
हुए. ये संघर्ष राजधानी ढाका
के अलावा देश के अन्य कई
हिस्सों में हुए हैं.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
बंद से आम जीवन चरमरा गया है
और बड़े पैमाने पर बाजार और
शिक्षण संस्थाएं बंद रही हैं.
कारोबार पर अत्यंत खराब असर
देखा गया है.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
ढाका की सड़कों पर निजी कारें
इक्कादुक्का ही दिखाई दी,
लेकिन सार्वजनिक वाहन के साथ
आम तौर पर व्यस्त रहने वाली
सड़कों पर बड़ी संख्या में
रिक्शा चलते देखा गया.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
पथराव कर रहे हड़ताल
समर्थकों को तितर-बितर करने
के लिए दंगा पुलिस ने रबर की
गोलियां और आंसू गैस के गोलों
का सहारा लिया. हड़ताल
समर्थकों ने मुख्य मार्गो पर
जुलूस निकाल कर यातायात
बाधित किया.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
संघर्ष पर उतारू होने के आरोप
में पुलिस ने कथित रूप से
विपक्षी गठबंधन के दर्जनों
कार्यकर्ताओं को हिरासत में
ले लिया है. सड़कों पर हुए
संघर्ष में दर्जनों लोग घायल
हो गए हैं.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
कई कॉकटेल और कम तीव्रता वाले
बम के धमाके भी होने की
जानकारी मिली है, लेकिन किसी
के हताहत होने की सूचना नहीं
है.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
बांग्लादेश के कानून राज्य
मंत्री कमरुल इस्लाम ने
रविवार को कहा कि यदि
तोड़फोड़ और आतंक फैलाने
वाली कार्रवाई जारी रही तो
पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा
जिया सहित बीएनपी के शीर्ष
नेताओं को गिरफ्तार किया
जाएगा.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
बांग्लादेश में संसद का
कार्यकाल 24 जनवरी 2014 को पूरा
हो रहा है और कार्यकाल खत्म
होने के पूर्व 90 दिनों के भीतर
चुनाव करा लेना अनिवार्य है.<br />
</p>

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: बांग्लदेश हिंसा में एक की मौत, दर्जनों घायल
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?????? ???????? ????? ????????? ?????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017