भारतीय तेल टैंकर अब तक ईरान के कब्जे में

By: | Last Updated: Friday, 6 September 2013 12:42 AM

<p style=”text-align: justify;”>
<b>तेहरान/नई
दिल्ली: </b>इराक से भारत के लिए
1,40,000 टन बस्रा क्रूड लेकर चला
भारत का तेल टैंकर एमटी देश
शांति अब भी ईरान के बंदर
अब्बास बंदरगाह में खड़ा है,
जहां प्रदूषण का हवाला देकर
पिछले महीने ईरानी अधिकारी
ने इसे अपने कब्जे में ले
लिया है. <br /><br />नई दिल्ली में एक
भारतीय अधिकारी ने कहा,
“टैंकर अब भी ईरान के कब्जे
में हैं.”<br /><br />ईरान की समाचार
एजेंसी फार्स के मुताबिक,
“ईरान के पोर्ट्स एंड
मारिटाइम ऑर्गनाइजेशन के
प्रमुख अताउल्ला सद्र ने कहा
है कि भारतीय तेल टैंकर तभी
मुक्त हो सकता है, जब वह ईरानी
पोर्ट एंड मारिटाइम
ऑर्गनाइजेशन को जरूरी
दस्तावेज सौंपेगा और अपने
प्रोटेक्शन एंड इंडेमिटी
(पीएंडआई) बीमा सुरक्षा से
भरपाई करेगा.”<br /><br />शिपिंग
कॉर्प ऑफ इंडिया (एससीआई) का
यह टैंकर 12 अगस्त को पर्सिया
की खाड़ी में कब्जे में लिया
गया था.<br /><br />फार्स के मुताबिक
तेहरान के मारिटाइम प्रदूषण
मामलों के महानिदेशक नीमा
पुरंग ने कहा है कि टैंकर को
कब्जे में इसलिए लिया गया
क्योंकि यह जल-प्रदूषण फैला
रहा है.<br /><br />ईरान के विदेश
मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद
अब्बास अराक्ची ने मीडिया की
उन खबरों को खारिज कर दिया,
जिनमें कहा जा रहा है कि ईरान
का कदम राजनीति से प्रेरित
है. अमेरिका और यूरोपीय संघ
द्वारा ईरान पर प्रतिबंध
लगाए जाने के बाद भारत ने
ईरान से तेल आयात घटा दिया है.<br /><br />28
अगस्त को भारत ने तेल टैंकर
को कब्जे में लिए जाने का
मजबूती से विरोध करने का
फैसला लिया और टैंकर को बिना
शर्त छोड़े जाने की मांग की.
विदेश सचिव सुजाता सिंह ने
ईरानी राजदूत गुलामरेजा
अंसारी को बुलाकर उनके सामने
अपना विरोध दर्ज किया.<br /><br />
</p>

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: भारतीय तेल टैंकर अब तक ईरान के कब्जे में
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017