मनमोहन सिंह से सितंबर में मिलेंगे बराक ओबामा

By: | Last Updated: Wednesday, 21 August 2013 1:30 AM

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”><b></b></span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”><b>वॉशिंगटन</b>:
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
अगले महिने व्हाइट हाउस में
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक
ओबामा से मुलाकात करेंगे और
दोनों नेता दोनों देशों के
बीच द्विपक्षीय संबंधों और
रक्षा सहयोग को और आगे बढ़ाने
के लिए रूपरेखा तैयार करेंगे.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>मनमोहन 27 सितंबर
को व्हाइट हाउस जाएंगे.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>प्रधानमंत्री
की यात्रा की घोषणा ऐसे समय
हुई है जब द्विपक्षीय संबंध
सुधारने की भारत और
पाकिस्तान की कोशिशों पर
नियंत्रण रेखा पर उत्पन्न
तनाव की छाया मंडरा रही है.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>राष्ट्रीय
सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर
मेनन ने प्रधानमंत्री की
यात्रा संबंधी ब्यौरे को
अंतिम रूप देने के लिए कल
अपनी अमेरिकी समकक्ष सुजैन
राइस और रक्षा मंत्री चक हेगल
से मुलाकात की.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>बैठक के बाद
राष्ट्रीय सुरक्षा प्रवक्ता
कैटलिन हेडन ने कहा, ‘‘दोनों
नेताओं की यह मुलाकात
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
के वर्ष 2009 में हुए वाशिंगटन
दौरे तथा राष्ट्रपति ओबामा
के वर्ष 2010 के भारत दौरे के बाद
हो रही है. इस मुलाकात से न
केवल क्षेत्रीय सुरक्षा और
स्थिरता के क्षेत्र में भारत
की भूमिका रेखांकित होगी,
बल्कि दोनों नेताओं को
अमेरिका और भारत के बीच
व्यापार, निवेश और विकास
सहयोग को आगे बढ़ाने की
रूपरेखा तैयार करने का अवसर
भी मिलेगा.’’</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>मेनन ने बताया
‘यह एक संक्षिप्त दौरा है
लेकिन मुझे लगता है कि
परिस्थितियों को देखते हुए
यह एक अच्छा दौरा होगा.’
उन्होंने यह भी कहा कि
प्रधानमंत्री सिंह से
मुलाकात के बाद दोपहर का भोज
आयोजित होगा. उनके अनुसार,
दौरे के कार्यक्रम को अभी
अंतिम रूप दिया जा रहा है.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b><span style=”line-height: 1.3em;”>मुलाकात के
लिए उत्सुक ओबामा<br /></span></b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>व्हाइट हाउस
में राइस ने मेनन से कहा कि
ओबामा प्रधानमंत्री से
मुलाकात के लिए उत्सुक हैं.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>हेडन ने कहा
‘भारत के साथ अमेरिका के गहरे
होते द्विपक्षीय संबंधों को
देखते हुए राजदूत राइस ने कहा
कि राष्ट्रपति 27 सितंबर,
शुक्रवार को व्हाइट हाउस में
प्रधानमंत्री सिंह का
स्वागत करने के लिए उत्सुक
हैं.’ समझा जाता है कि मेनन ने
हेगल को ‘कार्टर..मेनन पहल’
के बारे में बताया और भारत
अमेरिका रक्षा संबंधों को
अगले स्तर पर ले जाने के लिए
अब तक हुई प्रगति से अवगत
कराया.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>मेनन ने कहा
‘प्रधानमंत्री की यात्रा के
दौरान निश्चित रूप से हम आपको
अपनी अपेक्षा के बारे में
बताएंगे.’</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>सिंह की इस
यात्रा के पीछे मूल विचार
विभिन्न रक्षा खरीद के लिए
क्रेता विक्रेता की स्थिति
से हट कर वास्तविक सह विकास
और सह उत्पादन की ओर बढ़ना है.
उन्होंने बताया ‘हम यह एक साथ
करते हैं और इसमें हमारी अब
तक की प्रौद्योगिकी के
उच्चतम स्तर पर हस्तांतरण
तथा साथ काम करना शामिल हो
सकता है.’ मुलाकात के दौरान
मेनन और राइस ने भारत अमेरिका
रणनीतिक भागीदारी की
समीक्षा की.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>हेडन ने बताया
‘राइस ने आर्थिक और
वाणिज्यिक रिश्तों सहित
हमारे द्विपक्षीय संबंधों
को विस्तृत करने और उन्हें
मजबूत बनाने के लिए अमेरिका
की प्रतिबद्धता फिर से
दोहराई.’ हेगल से मुलाकात के
बाद पेंटागन के मुख्य सचिव
जॉर्ज लिटल ने कहा कि सितंबर
में सिंह की वाशिंगटन यात्रा
की तैयारी की जा रही है.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>लिटल ने बताया
‘हेगल ने दोनों देशों के बीच
व्यापार और क्षेत्रीय
सुरक्षा के क्षेत्र सहित
रक्षा सहयोग में सतत प्रगति
के लिए रक्षा मंत्रालय की
प्रतिबद्धता पर जोर दिया.’
उन्होंने कहा ‘हेगल ने पिछले
सप्ताह हुए आईएनएस
सिंधुरक्षक पनडुब्बी हादसे
में मारे गए नौसेना कर्मियों
के परिवारों के प्रति
संवेदना जताई.’</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>छह दिवसीय
अमेरिकी दौरे के समापन पर
मेनन ने कहा ‘मैं इस विश्वास
के साथ जा रहा हूं कि
प्रधानमंत्री के दौरे को सफल
बनाने के लिए तैयारियां
अच्छी तरह चल रही हैं और सही
दिशा में आगे बढ़ रही हैं.’
अपनी बैठकों पर संतोष जाहिर
करते हुए मेनन ने कहा कि वह और
उनके अमेरिकी समक्ष दोनों
देशों के बीच अक्षय ऊर्जा और
जलवायु परिवर्तन जैसे
क्षेत्रों में सहयोग पर
विचार कर रहे हैं.</span>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<span style=”line-height: 1.3em;”>उन्होंने कहा
‘हमने क्षेत्रीय सुरक्षा,
पड़ोस में स्थिरता और व्यापक
वैश्विक मुद्दों में से कुछ
पर चर्चा की.’ मेनन ने कहा
‘मेरे विचार से अगर आप अतीत
के बारे में सोचते हैं और आप
लोगों में से कई तो कुछ समय से
यहां रह रहे हैं तो आप जानते
हैं कि रिश्ते पिछले वर्षो
में कैसे थे. निश्चित रूप से
इनमें समय के साथ बहुत तेजी
से बदलाव हुआ है और आज हमारे
लिए यह सर्वाधिक महत्वपूर्ण
रिश्तों में से एक बन गए हैं.’<br /><br />उन्होंने
कहा ‘यहां बड़ी संख्या में आए
उच्च स्तरीय भारतीयों के साथ
बातचीत के बाद मैं यह कह सकता
हूं. साथ ही मुझे लगता है कि
प्रधानमंत्री का दौरा इसका
चरमोत्कर्ष होगा.’ <br /><br />15
अगस्त को वाशिंगटन आए मेनन
बीती रात यहां से रवाना हो
गये. यहां उन्होंने उप विदेश
मंत्री विलियम बर्न्‍स और
अमेरिकी उर्जा मंत्री के साथ
मुलाकात की तथा कुछ विचार
समूहों के साथ बैठकें भी कीं.<br /><br />हेडन
ने बताया ‘राजदूत राइस और
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार
मेनन ने अफगानिस्तान में
स्थिरता, सुरक्षा और समृद्धि
के लिए भारत के सतत समर्थन पर
भी चर्चा की.’<br /></span>
</p>

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: मनमोहन सिंह से सितंबर में मिलेंगे बराक ओबामा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017