मिश्र में मुस्लिम ब्रदरहुड के 683 सदस्यों को फांसी की सजा

मिश्र में मुस्लिम ब्रदरहुड के 683 सदस्यों को फांसी की सजा

By: | Updated: 28 Apr 2014 03:41 PM

काहिरा: मिस्र की एक अदालत ने सोमवार को पिछले साल पुलिसकर्मियों की हत्या और उन पर हमला करने के आरोप में मुस्लिम ब्रदरहुड के 683 सदस्यों को फांसी की सजा सुनाई है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, मिनिया क्रीमिनल कोर्ट ने ब्रदरहुड प्रमुख मोहम्मद बैदी सहित प्रतिवादी को अल-अदवा शहर में पुलिसकर्मियों की हत्या का दोषी माना है.

 

इसी अदालत ने मिनिया के मैती शहर में गत वर्ष हुई हिंसा के मामले में ब्रदरहुड के 37 सदस्यों और समर्थकों को फांसी की सजा और 492 को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी.

 

इस्लामिक राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी को गत वर्ष जुलाई महीने में सत्ता से बेदखल कर दिए जाने के बाद उनके समर्थक सेना समर्थित सरकार के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं.

 

गत दिसंबर महीने में प्रशासन ने मुस्लिम ब्रदरहुड को आतंकवादी संगठन करार दिया था.

 

प्रशासन ने मुर्सी के अगस्त में सत्ता से बेदखल होने के बाद कहिरा में उनके समर्थकों द्वारा दिए जाने वाले धरने को विफल कर दिया था और इस आंदोलन कुचलने के दौरान करीब एक हजार लोग मारे गए थे.

 

इसके बाद त्वरित गति से की गई सुनवाई में 1500 मुस्लिम कार्यकर्ताओं को जेल में डाल दिया गया था जबकि सैकड़ों लोगों को मौत की सजा सुनाई गई.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest World News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story तस्वीरों में: इमरान खान ने रचाई तीसरी शादी, जानें तीनों शादियों की बड़ी बातें