यूएन ने बोको हराम को अलकायदा से जुड़ा आतंकवादी संगठन घोषित किया

यूएन ने बोको हराम को अलकायदा से जुड़ा आतंकवादी संगठन घोषित किया

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएनसी) ने आधिकारिक तौर पर बोको हराम को अलकायदा से जुड़ा आतंकवादी संगठन करार दिया है. इसके अलावा संयुक्त राष्ट्र ने इस संगठन पर प्रतिबंध भी लगाए दिए हैं. ये आतंकवादी संगठन बम हमले करता रहा है और हाल ही में इस संगठन ने नाइजीरिया में 200 से ज्यादा स्कूली छात्राओं को अगवा कर लिया था.

 

सुरक्षा परिषद की ‘अलकायदा प्रतिबंध समिति’ ने कल बोको हराम को प्रतिबंधित संगठनों की सूची में शामिल किए जाने को मंजूरी दे दी. संगठन का उद्देश्य इस सूची में आने वाले किसी भी व्यक्ति, संगठन या संस्था पर आर्थिक प्रतिबंध और हथियारों की खरीद को प्रतिबंधित करना है.

 

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा किसी संगठन को काली सूची में डालने का मतलब है- यदि कोई व्यक्ति या संस्था बोको हराम को हथियार मुहैया कराने या रंगरूटों की भर्ती सहित आर्थिक या सामग्री पहुंचाने में मदद करता है तो उसे भी अलकायदा से जुड़े प्रतिबंधित संगठनों की सूची में डाल दिया जाएगा और उस पर वही प्रतिबंध लगाए जाएंगे.

 

बयान के मुताबिक, ‘‘समिति ने आतंकवाद विरोधी गतिविधियों का मुकाबला करने के लिए अलकायदा पर लगे प्रतिबंधों को मजबूती से लागू करने की आवश्यकता पर बल दिया. इसके अलावा उन्होंने समिति के सभी सदस्यों राष्ट्रों से यह आग्रह किया कि वे प्रतिबंधों के दायरे में आने वाले ऐसे व्यक्ति, संगठन या समूहों को काली सूची में डालने के लिए सक्रिय रूप से काम करें.’’

 

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत सामांथा पावर ने इसका स्वागत करते हुए कहा कि बोको हराम को परास्त करने और उसके ‘हत्यारे नेतृत्व’ को अत्याचारों के लिए जवाबदेह ठहराने के लिए ये प्रतिबंध नाइजीरियाई सरकार के प्रयासों में एक ‘महत्वपूर्ण कदम’ होगा.

 

उन्होंने कहा, ‘‘बोको हराम को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 1267 प्रतिबंध सूची के तहत शामिल किया गया है. इससे बोको हराम के धन प्राप्ति, आवागमन और हथियारों की प्राप्ति के रास्ते बंद करने में मदद मिली है और इनकी बर्बर कार्रवाइयों के खिलाफ वैश्विक एकता भी दिखी है.’’

 

14 अप्रैल को चिबॉक में 200 से ज्यादा स्कूली छात्राओं को अगवा किए जाने के बाद इस उग्रवादी संगठन की दुनियाभर में निंदा हो चुकी है. संगठन के नेता अबुबकर शेकाउ ने बोको हराम द्वारा जारी एक वीडियो के माध्यम से छात्राओं को अगवा किए जाने का दावा किया था और उन्होंने लड़कियों को गुलाम बनाने के लिए बेचने की धमकी दी थी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story शहंशाह जायद की तस्वीर बेचने से दुकानदार ने किया मना, मौजूदा किंग मोहम्मद ने की मुलाकात