राज कपूर की फिल्मों में संगीत अहम: लता मंगेशकर

राज कपूर की फिल्मों में संगीत अहम: लता मंगेशकर

By: | Updated: 08 May 2014 02:55 AM

मुंबई: सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर का कहना है कि बॉलीवुड के शोमैन राज कपूर न सिर्फ एक अच्छे फिल्मकार, अभिनेता थे बल्कि अच्छे संगीतज्ञ भी थे. उन्होंने कहा कि राज कपूर को संगीत की गहरी समझ थी और उनकी फिल्मों में भी संगीत की अहम भूमिका होती थी.

 

अपने पिता दीनानाथ मंगेशकर की पुण्यतिथि के मौके पर लता मंगेशकर ने 'बॉबी' स्टार ऋषि कपूर को भी भारतीय फिल्मों में उनकी बेहतरीन अदायगी के लिए सम्मानित किया.

 

इसके बारे में पूछे जाने पर लता ने कहा कि उनके मन में ऋषिजी के लिए हमेशा से सम्मान रहा है. यह सचमुच खुशी की बात है कि ऋषि कपूर अपने परिवार सहित उनके कार्यक्रम में शिरकत हुए.

 

कपूर परिवार से अपने संबंधों के बारे में बात करते हुए लता मंगेशकर ने बताया कि रणबीर और उनका जन्मदिन (28 सितंबर) एक ही दिन है. यहां तक कि राज कपूर की बेटी रीमा का जन्मदिन भी यही है.

 

भारतीय फिल्मों के सबसे बड़े शोमैन राज कपूर के बारे में पूछने पर लता मंगेशकर ने कहा कि राज साहब खुद संगीत के एक अच्छे जानकार थे.

 

84 साल की लता मंगेशकर ने राज कपूर की फिल्मों के कई सफल गानों जैसे 'घर आया मेरा परदेसी (आवारा), प्यार हुआ इकरार हुआ (श्री 420) और ये गलियां ये चौबारा (प्रेमरोग)' के लिए अपनी आवाज दी थी.

 

'राम तेरी गंगा मैली' फिल्म के गानों को याद करते हुए लता मंगेशकर ने कहा कि उन्हें इसके गाने बेहद पसंद हैं.

 

उन्होंने कहा, "मैंने सुना है कि कई कस्बों और गांवों में जब इस फिल्म को दिखाया जाता था तो दर्शक अक्सर फिल्म के प्रदर्शन को रोक कर 'सुन सायबा सुन' गाने को दोबारा दिखाने की मांग पर अड़ जाते थे.'

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest World News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story तस्वीरों में: इमरान खान ने रचाई तीसरी शादी, जानें तीनों शादियों की बड़ी बातें