विष्णु को खींच लाई थी अमेरिकी जीवनशैली की चकाचौंध

By: | Last Updated: Wednesday, 18 September 2013 11:29 AM

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”><b>वाशिंगटन:</b>
वाशिंगटन नौसेना गोदी पर
हमले में गोलीबारी का शिकार
हुए 12 लोगों में से एक विष्णु
किसन पंडित मुंबई में जन्मे
और पले-बढ़े थे. सत्तर के दशक
के मध्य में अमेरिका आए
विष्णु का सपना भी दुनिया के
उन लाखों अप्रवासियों जैसा
था, जो अमेरिकी जीवशैली की
चकाचौंध से आकर्षित होकर
अमेरिका का रुख करते हैं. </span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>कोलकाता
के कॉलेज से मरीन
इंजिनीयरिंग की पढ़ाई पूरी
करने के बाद 20 साल की उम्र में
अमेरिका आकर विष्णु ने
मिशिगन विश्वविद्यालय से
परास्नातक की डिग्री हासिल
की थी. जिसके बाद उन्हें
असैनिक कर्मचारी के रूप में
अमेरिकी नौसेना में नौकरी
मिल गई थी.</span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>विष्णु
के परिवार ने मंगलवार को उनके
निधन की सूचना जारी करते हुए
लिखा, “किसन को अमेरिका की
नौसेना का कर्मचारी होने का
गर्व था. उन्होंने 25 सालों तक
एक असैनिक कर्मचारी के रूप
में नौसेना के विभिन्न पदों
पर अपनी सेवा दी.”</span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>वाशिंगटन
पोस्ट के मुताबिक विष्णु के
परिजनों के लिए वह एक दयालु
और विनम्र व्यक्ति थे. वह
अपने काम, परिवार, मित्रों और
यहां तक कि अपने पालतू
जानवारों से भी बेहद प्यार
करते थे.</span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>विष्णु
ने अंजलि पंडित से विवाह किया
था और दो बेटों सिद्धेश और
कपिल के पिता थे. पिछले महीने
ही विष्णु एक पोती के दादा
बने थे.</span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>न्यूयार्क
टाइम्स ने विष्णु के बारे में
लिखा कि वह अपने पड़ोसियों का
ख्याल रखने वाले इंसान थे. वह
अपने पड़ोसियों के बगीचे में
पानी देने, उनके बच्चों का
ध्यान रखने में हमेशा सहयोग
करते थे.</span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>वाशिंगटन
के उपनगर मेरीलैंड के निकट
नार्थ पोटोमैक में उनके एक
पड़ोसी ने कहा, “वह हमारे लिए
परिवार के सदस्य की तरह थे.”</span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>कलकत्ता
विश्वविद्यालय के उनके एक
साथी एम. नंस जैन ने
हफ्फिंगटन पोस्ट को बताया,
“पंडित सिर्फ एक इंजीनियर या
एक पारिवारिक इंसान ही नहीं
थे, वह एक मार्गदर्शक थे.”</span>
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<span style=”line-height: 1.3em;”></span><span style=”line-height: 1.3em;”>जैन
ने बताया, “किसन को नौसेना से
प्यार था. अपने पूरे करियर
में उन्होंने हमेशा नौसेना
के लिए तकनीकों को ज्यादा
बेहतर बनाने की ओर काम </span><span
style=”line-height: 16.846590042114258px;”>किया.”</span>
</p>

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: विष्णु को खींच लाई थी अमेरिकी जीवनशैली की चकाचौंध
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017