समझौते के बाद कादरी का धरना खत्‍म

By: | Last Updated: Thursday, 17 January 2013 9:42 PM
समझौते के बाद कादरी का धरना खत्‍म

<p style=”text-align: justify;”>
<b>इस्‍लामाबाद:</b>
पाकिस्तान की सरकार के खिलाफ
मोर्चा खोलने धर्मगुरु
कादरी का धरना खत्म हो गया.
पाकिस्तानी सरकार के साथ
उनका समझौता हो गया है. <br /><br />सरकार
की दस सदस्यीय कमेटी ने
गुरुवार को ताहिर-उल-कादरी से
बातचीत की जिसके बाद कादरी ने
आंदोलन वापस लेने का ऐलान
किया. <br /> <br />कादरी ने लाखों
समर्थकों के साथ इस्लामाबाद
की सड़कों पर चार दिन से धरना
कर रखा था. कादरी की सबसे बड़ी
मांग थी संसद और विधानसभा को
भंग किया जाए.<br /><br />धर्म गुरु
ताहिर उल कादरी के मुताबिक,
‘पाकिस्‍तानी कौम की आज फतह
हुई है और लॉन्‍ग मार्च अपनी
मंजिल तक पहुंच गया है.'<br /><br />इसी
ऐलान के साथ पाकिस्तान की
संसद के सामने से मौलवी ताहिर
उल कादरी हट गए हैं. <br /><br />चार
दिन पहले लाहौर से निकले
मार्च की अगुवाई करते हुए
कादरी हजारों समर्थकों के
साथ यहां पहुंचे थे और धरने
पर बैठ गए थे.<br /><br />उनकी मुख्य
मांग चुनाव सुधार थी, लेकिन
उन्होंने संसद और सारी
विधानसभाओं को भंग करने की भी
मांग करके पाकिस्तान की
सियासत में हलचल मचा दी थी.<br /><br />लेकिन
गुरुवार दोपहर बाद सरकारी
नुमाइंदे बातचीत के लिए उस
बुलेट प्रूफ़ केबिन में
दाख़िल हुए जिसमें क़ादिरी
ने डेरा डाल रखा था. देर शाम
हुए एक समझौते के बाद कादरी
ने आंदोलन खत्म करने का ऐलान
किया.<br /><br />हालांकि जितनी
बड़ी-बड़ी बातें उन्होंने
कही थीं उस हिसाब से उन्हें
सरकार से हासिल कुछ नहीं हुआ
है. समझौता क्या-क्या हुआ ये
भी साफ नहीं है.<br /><br />कादरी के
आंदोलन के बीच प्रधानमंत्री
राजा परवेज अशरफ के खिलाफ
भ्रष्टाचार के एक मामले में
सुप्रीम कोर्ट की ओर से
गिरफ्तारी की कार्रवाई के
निर्देश आने से सरकार घिर गई
थी.<br /><br />हालांकि बाद में इस
मामले में आगे की सुनवाई टल
गई, लेकिन कादरी को भी बड़ा
झटका तब लगा जब सबसे बड़ी
विपक्षी पार्टी पीएमएल(एन) ने
उन्हें समर्थन से मना कर
दिया.<br /><br />इस बीच सरकार पर बने
चौतरफा दबाव का असर ये हुआ कि
उसे तय वक्त पर चुनाव के ऐलान
के लिए मजबूर होना पड़ा.<br /><br />कौन
हैं कादरी?<br />ताहिर उल कादरी
पाकिस्तान के एक धार्मिक
नेता हैं. वो तहरीक मिनाज उल
कुरान नाम से संगठन चलाते
हैं. कादरी कनाडा में रहते थे
और पिछले महीने ही पाकिस्तान
लौटे हैं.<br /><br />हालांकि कादरी
के पास अब भी कनाडा की
नागरिकता है. कनाडा की
नागरिकता की वजह से वो
पाकिस्तान में चुनाव भी नही
लड़ सकते<br /><br />गौरतलब है कि
कादरी के पीछे सेना की
सरपरस्ती का भी आरोप है.<br /> <br />
</p>

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: समझौते के बाद कादरी का धरना खत्‍म
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017