सिख दंगे को नरसंहार मानने से इनकार

By: | Last Updated: Tuesday, 2 April 2013 8:24 AM

<p style=”text-align: justify;”>
<b>वाशिंगटन:</b> भारत में
नवंबर 1984 में हुए सिख विरोधी
दंगे को ‘नरसंहार’ घोषित करने
की मांग को लेकर सिख समुदाय
की ओर से दायर एक अर्जी के
जवाब में व्हाइट हाउस ने कहा
है कि वह धर्म के आधार पर
हिंसा की निंदा करता रहेगा और
उसके खिलाफ काम करता रहेगा.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
व्हाइट हाउस ने कहा है, “हम
लगातार निंदा करते रहेंगे, और
सबसे ज्यादा अहम बात यह है कि
हम धार्मिक आधार पर लोगों के
खिलाफ होने वाली हिसा के
खिलाफ काम करते रहेंगे.”
लेकिन व्हाइट हाउस ने 84 के
दंगे को नरसंहार मानने से
इनकार कर दिया.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
न्यूयार्क स्थित मानवाधिकार
संगठन, सिख फॉर जस्टिस
(एसएफजे) की ऑन लाइन अर्जी के
जवाब में व्हाइट हाउस ने कहा
है, “अमेरिका सरकार का प्रयास
सभी प्रकार के लोगों के
अधिकारों और स्वतंत्रता की
रक्षा करना है. यह हमारी
विदेश नीति की लंबे समय से
विशेषता रही है.” एसएफजे ने
पिछले वर्ष दिसंबर महीने में
अर्जी दी थी. इस अर्जी पर 30,517
लोगों के हस्ताक्षर थे.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
व्हाइट हाउस ने कहा है, “1984 की
हिंसा के दौरान और उसके बाद
भी अमेरिका ने देखा और
सार्वजनिक रूप से सिख समुदाय
के लोगों के खिलाफ
मानवाधिकार हनन और अन्याय के
विरुद्ध आवाज उठाई.”
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
अमेरिकी राष्ट्रपति भवन ने
कहा है, “हमारे राजनयिक
दुनिया भर में अल्पसंख्यकों
के खिलाफ होने वाली हिंसा पर
नियमित रूप से रिपोर्ट देते
रहे हैं और बोलते रहते हैं.”
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
व्हाइट हाउस के इस जवाब पर
एसएफजे ने हालांकि असंतोष
जताया है और कहा है कि ओबामा
प्रशासन ने इस मुद्दे पर अपनी
स्थिति साफ न कर संयुक्त
राष्ट्र प्रस्ताव का
उल्लंघन किया है. एसएफजे ने
कहा है कि वह संयुक्त राष्ट्र
मानवाधिकार आयोग
(यूएनएचआरसी) से संपर्क
करेगा.<br />
</p>

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: सिख दंगे को नरसंहार मानने से इनकार
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017