सुशील कोईराला नेपाली कांग्रेस के प्रधानमंत्री पद प्रत्याशी, माओवादी विपक्ष की भूमिका निभाएंगे

By: | Last Updated: Monday, 27 January 2014 4:53 AM

काठमांडू: नेपाल की संविधानसभा में सबसे अधिक सीटों वाली पार्टी, नेपाली कांग्रेस ने रविवार को अपनी पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप में सुशील कोईराला को मनोनीत किया. कोईराला को नामित किए जाने के साथ ही दो माह पहले हुए संविधानसभा के चुनाव के बाद देश में नई सरकार के गठन की राह की एक बड़ी अड़चन दूर हो गई है. देश में 19 नवंबर को हुए चुनाव में नेपाली कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी. लेकिन पार्टी के भीतर सरकार के नेतृत्व को लेकर पैदा हुई रस्साकशी के कारण नई सरकार का गठन नहीं हो पा रहा था.

 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, पार्टी के संसदीय दल के नेता के रूप में नेपाली कांग्रेस के 194 विधायी सदस्यों में से 105 ने कोईराला के पक्ष में मतदान किया. उनके प्रतिद्वंद्वी शेर बहादुर देउबा को 89 मत मिले. निर्दलीय राष्ट्रीय पंचायत व्यवस्था के खिलाफ व्यापक आंदोलन के बाद 1990 में जब देश में बहुदलीय व्यवस्था लागू हुई थी, उसके बाद देउबा तीन बार प्रधानमंत्री बने थे. कोईराला अपने 50 वर्ष के राजनीतिक जीवन में किसी मंत्री पद पर भी नहीं रहे हैं.

 

कोईराला की शादी नहीं हुई है और देश के राजनेताओं में सबसे साफ-सुथरी छवि वाले माने जाते हैं. उनके नेतृत्व में नेपाली कांग्रेस चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी. सुशील कोईराला नेपाल के कोईराला परिवार से ताल्लुक रखते हैं और यदि वे प्रधानमंत्री बनते हैं तो वे इस परिवार से इस पद पर आसीन होने वाले चौथे व्यक्ति होंगे. उनसे पहले कोईराला परिवार से मातृका प्रसाद कोईराला, विशेश्वर प्रसाद कोईराला और गिरिजा प्रसाद कोईराला, इस पद पर आसीन हो चुके हैं.

 

पार्टी के संसदीय दल के नेता की दौड़ में तीन नेता कोईराला, देउबा और पार्टी उपाध्यक्ष रामचंद्र पौडेल शामिल थे. कोईराला द्वारा पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष पद देने पर सहमति जताने के बाद पौडेल ने नेता पद की दौड़ से हटना मंजूर कर लिया. चुने जाने के बाद कोईराला ने कहा कि उनकी प्राथमिकता राष्ट्रीय सहमति वाली सरकार का गठन करना है. उन्होंने कहा, “सहमति की सरकार गठित करने के लिए हम सभी पार्टियों के साथ संपर्क करेंगे ताकि एक साल के अंदर नया संविधान लागू किया जा सके.”

 

सबसे बड़ी पार्टी का नेता चुने जाने के बाद कोईराला प्रधानमंत्री बनने के योग्य हो गए हैं, लेकिन उन्हें संविधानसभा की दूसरी बड़ी पार्टी नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी या तीसरी बड़ी पार्टी नेपाल की एकीकृत कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) से तालमेल रखना होगा. नेपाली संविधान सभा में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी यूसीपीएन-माओवादी ने रविवार को कहा कि पार्टी विपक्ष की भूमिका निभाएगी, लेकिन संविधान तैयार करने की प्रक्रिया में अन्य दलों को मदद करेगी.

 

नेपाली कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल-यूनीफाइड मार्क्‍सिस्ट-लेनिनिस्ट (सीपीएन-यूएमएल) संविधान सभा में क्रमश: सबसे बड़ी और दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है. यूनीफाइड कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल-माओवादी (यूपीसीएन-माओवादी) के अध्यक्ष पुष्प कमल दहाल ‘प्रचंड’ ने अंतर्राष्ट्रीय कनवेंशन सेंटर में यहां संविधान सभा की पहली बैठक को संबोधित करते हुए घोषणा की कि उनकी पार्टी सरकार में शामिल नहीं होगी.

 

प्रचंड ने हालांकि कहा कि उनकी पार्टी नया संविधान तैयार करने में अन्य पार्टियों को मदद करेगी. 2008 के चुनाव में माओवादी पार्टी नेपाल में सबसे बड़ी राजनीतिक ताकत के रूप में उभरी थी, लेकिन वह अपना कद बरकरार नहीं रख पाई. पिछले वर्ष 19 नवंबर को हुए दूसरे संविधान सभा के चुनाव में माओवादी तीसरे स्थान पर पहुंच गए.

 

प्रचंड ने कहा, “हमारी प्राथमिकता में न सरकार है और न यह कि नेपाल का अगला राष्ट्रपति कौन होगा. हम विपक्ष में बैठेंगे और संविधान तैयार करने में नेपाली कांग्रेस और सीपीएन-यूएमएल को मदद करेंगे.” इसके साथ ही प्रचंड ने अन्य दलों को आगाह किया कि वे उन्हें कोई छोटी पार्टी न समझे, “क्योंकि हम नेपाल की जारी शांति प्रक्रिया के हिस्सा हैं और मैंने उस शांति करार पर हस्ताक्षर किया है.”

 

उल्लेखनीय है कि 2006 में इस करार पर सरकार और माओवादियों ने हस्ताक्षर किए थे, और इसके साथ ही नेपाल में राजनीतिक बदलाव का रास्ता साफ हुआ था. करार के मुताबिक नेपाल में दो बार संविधान सभा का चुनाव हुआ है, लेकिन संविधान निर्माण का बड़ा एजेंडा पूरा होना अभी भी बाकी है. प्रचंड ने कहा, “यदि माओवादी पार्टी को छोटा दल समझा गया, तो यह भारी भूल होगी.”

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: सुशील कोईराला नेपाली कांग्रेस के प्रधानमंत्री पद प्रत्याशी, माओवादी विपक्ष की भूमिका निभाएंगे
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017