हावर्ड की प्रतियोगिता के विजेताओं में 4 भारतीय

हावर्ड की प्रतियोगिता के विजेताओं में 4 भारतीय

By: | Updated: 03 May 2014 04:05 PM
वाशिंगटन: इस साल के हावर्ड बिजनेस स्कूल न्यू वेंचर कम्पिटीशन (एनवीसी) के विजेताओं में शामिल चार युवा भारतीय उद्यमी एक साधारण से विचार से प्रेरित हुए. यह साधारण सा विचार या सोच थी- 'एक आसान सी सूझ सब बदल सकती है.'

 

एचबीएस मीडिया विज्ञप्ति के अनुसार, मंगलवार को बोस्टन में प्रतियोगिता के भव्य समापन समारोह में सोशल एंटरप्राइज ट्रेक में ग्रैंड प्राइज 'साथी' को मिला. साथी की स्थापना अमृत सहगल (एमबीए 2014) और क्रिस्टिन काजेत्सू ने की.

 

प्रतियोगिता में 50,000 डॉलर पीटर एम. सैकरडोट प्राइज मिला, जो नकद और 300,000 से अधिक का एक खास पुरस्कार है.

 

'साथी' स्थानीय स्तर पर केले के बेकार पेड़ों से निकले फाइबर से बने सेनेटरी पैड को महिलाओं को किफायती दामों में उपलब्ध कराती है.

 

साथी फिलहाल दो गांवों में संचालित है. इसकी जल्द पांच गांवों में संचालित होने और उत्पाद बनाने के लिए 50 महिलाओं को रोजगार देने की योजना है.

 

वहीं, प्रीतर कुमार (एमबीए 2014) द्वारा स्थापित बूया फिटनेस विद्यार्थियों की बिजनेस ट्रेक प्रतियोगिता में उप-विजेता रही.

 

कुमार को अपनी कार्ययोजना के लिए 25,000 सैशू-बर्गस्टोन उप-विजेता के पुरस्कार से नवाजा गया.

 

वहीं, 'टोमेटो जॉस' सोशल एंटरप्राइज ट्रेक की उप-विजेता रही. इसकी स्थापना हावर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की मीरा मेहता और नाइक लॉरेंस (दोनों एमबीए 2014), शेन कीरनन और जेअर्ड वेस्टथीम ने की थी.

 

विद्यार्थी मुकाबले के अन्य फाइनलिस्ट में ईजीबायोडाटा शामिल रही. इसकी स्थापना यू ककित्सुबू, प्रतीक अग्रवाल, पीटर लुप्तक और एलीसन प्रिशेट (सभी एमबीए 2014) ने की.

 

एचबीएस ने कहा कि हावर्ड स्कूल ऑफ बिजनेस अब अपने 18वें साल में है. हावर्ड का हावर्ड बिजनेस स्कूल न्यू वेंचर काम्पिटीशन विद्यार्थियों और पूर्व छात्र दोनों की ही नया कारोबार और सामाजिक प्रभाव डालने वाले उद्यम शुरू करने के लिए सहयोग देता है.

 

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest World News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story शहंशाह जायद की तस्वीर बेचने से दुकानदार ने किया मना, मौजूदा किंग मोहम्मद ने की मुलाकात