गाजा संघषर्विराम टूटा, इस्राइल की गोलाबारी में 160 फलस्तीनी मारे गए

By: | Last Updated: Saturday, 2 August 2014 2:56 AM

गाजा (यरूशलम): गाजा और इस्राइल के बीच 72 घंटे का संघर्ष विराम आज शुरू होने के कुछ ही देर बाद टूट गया और इस्राइल की भारी गोलाबारी में हमास शासित गाजा में कम से कम 160 लोग मारे गए जबकि फलस्तीनी उग्रवादी संगठनों के हमले में इस्रराइल के दो सैनिकों की भी मौत हो गयी और एक अन्य का अपहरण होने की आशंका है.

 

मानवीय संघर्ष विराम आज सुबह शुरू होने के दो घंटे बाद ही टूट गया. गाजा पट्टी में इस्राइल और फलस्तीनी आतंकवादी संगठनों के बीच तीन सप्ताह से भी अधिक से जारी संघर्ष की समाप्ति के लिए अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र की मध्यस्थता से संघर्ष विराम हुआ था.

 

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र से मिली ख़बर के अनुसार महासचिव बान की मून ने इस युद्धविराम उल्लंघन की कड़े शब्दों में निंदा की है और गाजा में बंधक बनाए गए इस्राइली सैनिक की तत्काल रिहाई की मांग की है.

 

फलस्तीन के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार आज सुबह से दक्षिण रफा में इस्राइल की भारी गोलाबारी में कम से कम 160 लोग मारे गए. इसके साथ ही संघर्ष में अब तक 1600 फलस्तीनियों ने अपनी जान गंवाई है जिनमें ज्यादातर नागरिक हैं. इन हमलों में 7000 से अधिक लोग घायल हुए.

 

गाजा पर इस्राइली हमले में 1509 लोगों की मौत का आंकडा साल 2008-09 में ऑपरेश्न कास्ट लीड में मारे गए लोगों की संख्या से ज्यादा है. आज संघर्ष का 25 वां दिन है. फलस्तीन सेंटर फॉर ह्यूमन राइट्स के अनुसार ऑपरेश्न कास्ट लीड में 1417 लोग मारे गए थे जो काफी लंबा संघर्ष था और 22 दिनों तक चला था.

 

इस बीच इस्राइली सेना ने कहा कि उसके दो सैनिक मारे गए और गाजा पट्टी में संभवत: उसके एक अन्य सैनिक का आतंकवादियों ने अपहरण कर लिया. संघर्ष में अबतक भारतीय मूल के दो सैनिकों समेत 63 इस्राइली सैनिक मारे गए हैं.

 

साल 2008-09 के दौरान दस इस्राइली सैनिकों की जान गयी थी. वर्तमान संघर्ष में करीब 400 इस्राइली सैनिक घायल हुए हैं. रॉकेट और मोर्टार हमलों में तीन इस्राइली नागरिक और एक थाई नागरिक मारा गया.

 

इस्राइली रक्षा बल के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल पीटर लर्नर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रारंभिक संकेतों से पता चलता है कि आतंकवादियों ने एक सैनिक को अगवा कर लिया जो आतंकवादियों द्वारा संघषर्विराम का उल्लंघन था. ’’

 

संकरी तटीय पट्टी पर शासन करने वाले हमास ने इस्राइली सैनिक के अपहरण की ख़बर की न तो पुष्टि की और न ही खंडन लेकिन कहा कि अपहरण की इस्राइल की घोषणा संघर्ष विराम से उसके पीछे हटने का महज एक बहाना है.

 

इस्राइल और हमास ने एक दूसरे पर नाजुक संघषर्विराम को तोड़ने का आरोप लगाया है. तत्काल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि दावे-प्रतिदावे के बीच किसने संघषर्विराम तोड़ा. इस बीच, मिस्र ने कहा है कि युद्धविराम उल्लंघन के बावजूद गाजा में दीर्घकालिक युद्धविराम पर वार्ता के लिए इस्राइल और फलस्तीन को दिया गया उसका निमंत्रण अभी भी कायम है.

 

इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू के कार्यालय ने एक बयान में कहा, ‘‘एक बार फिर गाजा में हमास और आतंकवादी संगठनों ने संघषर्विराम तोड़ा जबकि उन्होंने संघर्ष विराम के लिए स्वीकृति दी थी. उन्होंने अमेरिकी विदेश मंत्री और संयुक्त राष्ट्र महासचिव के सामने संघषर्विराम पर सहमति जतायी थी.’’

 

इस्राइली चैनल-10 ने ख़बर दी कि एशकोल रिजनल काउंसिल इलाके में आज सुबह दो कोड रेड सायरन बजे. एक खुले क्षेत्र में दो रॉकेट गिरे. संघषर्विराम की घोषणा नयी दिल्ली में जारी एक बयान में की गयी थी जहां अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी यात्रा पर हैं.

 

संयुक्त राष्ट्र के पश्चिम एशिया शांति के विशेष संयोजक रॉबर्ट सैरी ने एक बयान में कहा कि इस्राइल ने आज सुबह रफा इलाके में आईडीएफ (सेना) लाइन से पहले सुरंग से जुड़ी एक गंभीर घटना की ख़बर दी. यदि पुष्टि होती है तो यह मानवीय संघषर्विराम का गंभीर उल्लंघन है और उसकी कड़ी निंदा होनी चाहिए. अस्थायी संघर्ष विराम तड़के प्रभाव में आया.

 

इससे पहले इस्राइल अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र के संयुक्त प्रस्ताव पर राजी हुआ जिन्होंने उसकी अहम मांग पर गौर किया.

 

इस्राइल मांग करता रहा है कि संघषर्विराम सौदे में यह शर्त हो कि उसके सैनिकों को 72 घंटे के संघषर्विराम के दौरान गाजा में रहने की अनुमति हो ताकि वे सुरंगों का पता लगा सकें और उन्हें नष्ट कर सकें. इस्राइल के अनुसार इन सुरंगों से आतंकवादी उसकी सीमा में दाखिल हो जाते हैं.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: _Ceasefire _agreement _violated _in _Gaza _hundred _and _sixty _die
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017