वायु प्रदूषण से फीका हो रहा ताज का रंग

By: | Last Updated: Thursday, 11 December 2014 2:16 PM

वाशिंगटन: अमेरिका और भारत के शोधकर्ताओं के एक दल ने अध्ययन में पाया है कि बने विश्व के सात आश्चर्यो में शामिल संगमरमर से बने ताजमहल का प्रतिष्ठित गुंबद और मीनारों का रंग धूल व हवाई कार्बन कणों के कारण फीका पड़ता जा रहा है.

 

अमेरिका के जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में प्रोफेसर माइकल बर्गिन ने बताया, “हमारी टीम यह देखने में सक्षम है कि ताजमहल का रंग फीका करने वाले प्रदूषक जलने वाली बायोमास, धूल, जीवाश्व ईंधन और संभवत: कृषि और सड़क यातायात से आने वाले कार्बन कण हैं.”

 

प्रतिवर्ष लाखों पर्यटकों को आकर्षित करने वाला ताजमहल वर्ष 1983 में यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया था. पर्यवेक्षकों ने 1970 के दशक में नोट किया था कि ताजमहल के सफेद संगमरमर का रंग भूरा हो रहा है.

 

अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने ताजमहल परिसर की वायु का परीक्षण करने के लिए नवंबर 2011 से जून 2012 तक वायुमापनी उपकरणों का प्रयोग किया.इसके अतिरिक्त, उन्होंने ताजमहल में मुख्य गुंबद के आसपास कई जगहों पर पुराने संगमरमर के टुकड़े भी लगाए.

 

लगभग दो महीनों बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि फिल्टरों और नमूने के संगमरमर में धूल, भूरे रंग का जैविक कार्बन काले कार्बन के कण मौजूद हैं. ये कार्बन ईंधन, खाना पकाने, ईंटें बनाने, कचरा जलाने और वाहनों के धुएं में होते हैं.धूल संभवत: स्थानीय कृषि गतिविधियों और वाहन यातायात से आती है.

 

शोधकर्ताओं ने जान लिया है कि कौन से तत्व ताजमहल की रंगत को फीका कर रहे हैं. शोधकर्ता अगले कदम में ताजमहल को नुकसान पहुंचाने वाले घटकों के स्रोत जानने और इन्हें नियंत्रित करने की रणनीति बनाने का प्रयास करेंगे.

 

अध्ययन के लेखकों ने बताया कि सूत्र स्थानीय हो सकते हैं और सरकार पहले ही इलाके में औद्योगिक और वाहनों से होने वाले उत्सर्जन को नियंत्रित करने के कदम उठा रही है.

 

बर्जिन ने बताया, “इनमें से कुछ कण वास्तव में मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं, इसलिए ताजमहल की सफाई पूरे क्षेत्र के लोगों के स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी हो सकती है.”

 

इस परियोजना में अमेरिका की जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कनसिन के अलावा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर (आईआईटी-के) और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के शोधकर्ता भी शामिल हैं.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Air pollution discolouring the Taj Mahal, finds study
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: AIR discolour pollution Study taj mahal
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017