काठमांडू के लिए हवाई सेवा सामान्य हुई

By: | Last Updated: Monday, 27 April 2015 5:56 PM

नई दिल्ली: भूकंप से तबाह नेपाल की राजधानी काठमांडो के लिए भारत से हवाई सेवाएं आज सामान्य हो गयीं लेकिन हवाई अड्डे पर विमानों के पार्किंग की जगह की कमी के कारण एयरलाइनों को नेपाल में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए ज्यादा उड़ानों के संचालन में दिक्कत आ रही है.

 

इसी बीच जेट एयरवेज ने कहा कि वह काठमांडो जाने वाली अपनी उड़ानों में राहत सामग्री ले जाने के लिए माल भाड़ा माफ कर देगा.

 

एयर इंडिया और स्पाइसजेट अपनी निर्धारित उड़ानों के अलावा केवल एक-एक उड़ान संचालित कर पाए.

 

एयर इंडिया ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘एयर इंडिया ने आज काठमांडो के लिए चार उड़ानें संचालित कीं. इनमें से तीन दिल्ली से जबकि एक वाराणसी से थीं. तीन विमान एक साथ कुल 361 यात्रियों को वापस देश लेकर आए.’’ एयर इंडिया ने कहा कि उसने सात उड़ानें संचालित करने की योजना बनायीं थीं लेकिन काठमांडो के त्रिभुवन हवाई अड्डे पर जगह की कमी के कारण ऐसा नहीं कर पायी.

 

एयरलाइन ने कहा कि उसने कोलकाता से काठमांडो के लिए दो उड़ानें भी संचालित की थीं लेकिन उन्हें काठमांडो हवाई अड्डे पर  पार्किंग की कमी के कारण 90 मिनट से अधिक समय तक काठमांडो के आसमान में मंडराने के बाद वापस लौटना पड़ा.

 

स्पाइसजेट के प्रोमोटर अजय सिंह ने कहा, ‘‘हमने वहां फंसे भारतीयों की मदद के लिए काठमांडो के लिए दो अतिरिक्त उड़ानें संचालित करने की योजना बनायी है. वहां की मौसम दशाओं के कारण आज तड़के एक उड़ान काठमांडो हवाई अड्डे पर नहीं उतर सका और उसे वापस दिल्ली लौटना पड़ा.’’

काठमांडू में भूकंप के ताजा झटके से सहमा नेपाल,अब तक 40,000 की मौत  

 

केरलवासियों को नेपाल से वापस लाएंगे: सुषमा

कई देशों ने अपने नागरिकों को नेपाल से निकालने के लिए भारत से मांगी मदद
भूकंप: नेपाल की मदद के लिए आगे आया बॉलीवुड

नेपाल भूकंप पीड़ितों के लिए एक दिन की सैलरी देंगे सांसद 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: air ways normal in kathmandu
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017