बांग्लादेश: रोहिंग्या शरणार्थियों से मिली पीएम शेख हसीना, मदद का दिया भरोसा

शेख हसीना ने रोहिंग्या शरणार्थियों के शिविरों का दौरा करने के बाद कहा, ‘‘हम पड़ोसी देशों में शांति और मित्रवत संबंध चाहते हैं, लेकिन हम किसी तरह की नाइंसाफी नहीं होने देंगे और इसे स्वीकार भी नहीं कर सकते. हम इसका विरोध करना जारी रखेंगे.’’

By: | Last Updated: Tuesday, 12 September 2017 11:48 PM
Bangladesh PM Sheikh Hasina accuses Myanmar for oppressing Rohingyas

ढाका: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने बुधवार को आरोप लगाया कि म्यांमार, रोहिंग्या मुसलमानों पर ‘अत्याचार’ कर रहा है. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश किसी तरह की नाइंसाफी बर्दाश्त नहीं करेगा. उन्होंने म्यांमार सरकार से यह भी कहा कि वह अपने उन नागरिकों को वापस ले जो हिंसा की वजह से भागकर बांग्लादेश पहुंचे हैं.

हम किसी तरह की नाइंसाफी नहीं होने देंगे: शेख हसीना

शेख हसीना ने रोहिंग्या शरणार्थियों के शिविरों का दौरा करने के बाद कहा, ‘‘हम पड़ोसी देशों में शांति और मित्रवत संबंध चाहते हैं, लेकिन हम किसी तरह की नाइंसाफी नहीं होने देंगे और इसे स्वीकार भी नहीं कर सकते. हम इसका विरोध करना जारी रखेंगे.’’ उन्होंने शरणार्थियों को विश्वास दिलाया कि बांग्लादेश उन लोगों को मानवीय सहायता मुहैया कराता रहेगा.

‘जब तक वे अपने देश नहीं लौट जाते तब तक हम उनके साथ खड़े रहेंगे’

बांग्लादेश की पीएम ने कहा, ‘‘जब तक वे अपने देश नहीं लौट जाते तब तक हम उनके साथ खड़े रहेंगे.’’ म्यांमार में ताजा हिंसा के कारण कम से कम 313000 रोहिंग्या बांग्लादेश पहुंचे हैं. संयुक्त राष्ट्र के आकलन के अनुसार म्यांमार की सेना की ओर से रखाइन प्रांत में 25 अगस्त से चलाए जा रहे अभियान में 1000 से अधिक लोग मारे गए हैं.

UN मानवाधिकार प्रमुख ने रोहिंग्या समुदाय के खिलाफ हिंसा को बताया ‘नस्ली सफाया’

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bangladesh PM Sheikh Hasina accuses Myanmar for oppressing Rohingyas
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017