नेपाल के दोलखा में अब भी मलबे में दबे पड़े हैं शव

By: | Last Updated: Friday, 22 May 2015 7:14 PM

सिंगाती: नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप में सर्वाधिक प्रभावित दोलखा जिले के सिंगाती बाजार इलाके में अभी भी मलबे के नीचे दबे पड़े शवों को निकाले जाने की जरूरत है, क्योंकि राहत एवं बचाव कर्मियों को अपना काम पूरा करने की दिशा में अनेक बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है.

 

स्थानीय लोगों का कहना है कि सिंगाती में गिरे हुए घरों के मलबे में अभी भी 100 से अधिक शव दबे पड़े हैं. भूकंप के बाद इलाके में लगातार भूस्खलन जारी है, जिसके कारण बचाव एवं राहत कार्य में बाधा आ रही है.

 

चारिकोट स्थित बारदा बहादुर बटालियन पर तैनात नेपाली सेना के मेजर राजन दहल ने कहा कि सिंगाती में राहत एवं बचाव कार्य में काफी कठिनाई आ रही है, क्योंकि भूकंप के बाद लगातार भूस्खलन हो रहे हैं. अब तक सिंगाती में मलबे के नीचे से सिर्फ 33 शव निकाले जा सके हैं.

 

स्थानीय निवासी पद्मराज पाठक ने बताया कि 12 मई को आए तगड़े झटके के कारण हुए भूस्खलन से सिंगाती का बस अड्डा भी ढह गया. भूस्खलन के कारण तलाश अभियान भी बाधित हुआ.

 

इसके बाद बीते बुधवार को कुछ अमेरिकी राहतकर्मी सिंगाती पहुंचे और राहत कार्य दोबारा शुरू हुआ. शुक्रवार को सिंगाती में 29 शव निकाले गए.

 

नेपाली राहत दल के साथ संयुक्त अभियान में अमेरिकी राहत दल ने सिंगाती से लादुक बुलुंग को जोड़ने वाले दो किलोमीटर लंबे मार्ग को भी बाधामुक्त किया, जिससे शुक्रवार को दोनों इलाकों के बीच परिवहन शुरू हो सका.

 

पाठक ने बताया कि 25 अप्रैल के विनाशकारी भूकंप में बच गए 200 लोग 12 मई को टेंट और अन्य सामग्री खरीदने सिंगाती में थे, तभी उन्हें झटके का सामना करना पड़ा. लेकिन अब तक यह नहीं पता चल सका है कि वे भूस्खलन में बचे या नहीं.

 

सिंगाती जिला मुख्यालय चारीकोट से 40 किलोमीटर की दूरी पर है और जिले के उत्तरी हिस्से के लिए प्रमुख बाजार है. सिंगाती में अब अधिकांश आधारभूत संरचना ध्वस्त हो चुकी है तथा सिंगाती को अन्य इलाकों से जोड़ने वाली अधिकांश सड़कें क्षतिग्रस्त हैं.

 

इस बीच अधिकारियों ने बताया कि दोलखा में 17 बस्तियों को सुरक्षित जगह बसाए जाने की जरूरत है, क्योंकि इन इलाकों में अभी भी भूस्खलन का खतरा बना हुआ है.

 

काठमांडू के 28 इलाकों में प्रवेश पर रोक

 

नेपाल में 25 अप्रैल को आए भीषण भूकंप और उसके बाद के विभिन्न झटकों के बाद जीवन धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है और सड़कों पर यातायात दोबारा से शुरू कर दिया गया है. नेपाल पुलिस ने काठमांडू घाटी में सड़कों के किनारे स्थित मकानों और अन्य संरचनाओं की खस्ताहालत को देखते हुए कुछ सड़कों पर प्रवेश को प्रतिबंधित कर दिया है ताकि किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना न हो.

 

जिन इलाकों में प्रतिबंध लगाया गया है उसमें कुछ महत्वपूर्ण एतिहासिक स्थल, क्षतिग्रस्त इमारतों वाले जोखिम भरे क्षेत्र और ऐसे स्थान शामिल हैं जहां पर टूटी हुई इमारतों को ढहाने का काम जारी है.

 

पुलिस ने घाटी के काठमांडू, ललितपुर और भक्तपुर जिले के 28 स्थानों पर भारी और हल्के दोनों तरह के वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दी है. इस फैसले से लोगों को परेशानी के अलावा परिवहन सेवा प्रभावित होने की उम्मीद है.

 

मेट्रोपोलियन ट्रैफिक पुलिस डिवीजन (एमटीपीडी) के मुताबिक, विभाग ने उन स्थानों पर वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दी है जहां पर 25 अप्रैल के भूकंप के बाद इमारतें झुक (बगल में अथवा सामने की ओर) गई थीं.

 

पुलिस ने एक बयान में कहा, “सड़क मार्गो के आसपास बने कई घर और इमारतें संरचनात्मक रूप से असुरक्षित हैं और लगातार आ रहे झटकों के बीच किसी भी समय ढह सकती हैं. उचित होगा कि ढहने की कगार पर खड़ी इन इमारतों को जब तक ध्वस्त नहीं किया जाता, तब तक वहां पर वाहनों का परिचालन प्रतिबंधित रहे. वाहनों के परिचालन से संरचनाओं के ढहने का खतरा बढ़ सकता है.”

 

यातायात पुलिस ने हीरारत्न सिनेमा हॉल से कोलूपुर चौक जाने वाले रास्ते पर वाहनों का परिचालन रोक दिया. इसी प्रकार से कई अन्य मार्गो पर भी पुलिस ने यातायात रोक दिया है. एक अधिकारी ने कहा कि यातायात प्रबंधन के लिए वाहनों के वैकल्पिक मार्ग से गुजरने का प्रतिबंध किया गया है.

 

उन्होंने कहा, “यातायात पुलिसकर्मी अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ बाधित सड़कों को पुन: खोलने में सक्रियता से लगे हुए हैं.” हालांकि विभिन्न पारगमन स्थलों से काठमांडू में वाहनों का परिचालन पूर्व की भांति जारी है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: BHAKTAPUR_Nepal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Nepal
First Published:

Related Stories

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

अब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करेंगी मलाला यूसुफजई!
अब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करेंगी मलाला यूसुफजई!

लंदन: पाकिस्तानी अधिकार कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने आज ‘ए-लेवल’ रिजल्ट हासिल कर लिया. इसके...

सियरा लियोन में भयानक बाढ़, लैंडस्लाइड से 300 से ज्यादा की मौत की खबर
सियरा लियोन में भयानक बाढ़, लैंडस्लाइड से 300 से ज्यादा की मौत की खबर

फ्रीटाउन: सियरा लियोन की राजधानी फ्रीटाउन में भीषण बाढ़ के कारण 105 बच्चों की मौत हो गई. फ्रीटाउन...

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

नेपाल में बाढ़ का कहर, अब तक 120 लोगों की मौत, 60 लाख लोग प्रभावित
नेपाल में बाढ़ का कहर, अब तक 120 लोगों की मौत, 60 लाख लोग प्रभावित

काठमांडो: नेपाल में लगातार बारिश के चलते आई बाढ़ और लैंडस्लाइड  मरने वालों की संख्या बढ़कर 120 हो...

मोदी को ट्रंप का फोन, 'प्रशांत महासागर क्षेत्र में शांति बढ़ाने पर जताई सहमति'
मोदी को ट्रंप का फोन, 'प्रशांत महासागर क्षेत्र में शांति बढ़ाने पर जताई...

वाशिंगटन: व्हाइट हाउस ने कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम नरेन्द्र मोदी एक नई...

भारत, चीन एक दूसरे को हरा नहीं सकते: दलाई लामा
भारत, चीन एक दूसरे को हरा नहीं सकते: दलाई लामा

मुंबई: तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा ने सोमवार को कहा कि भारत और चीन एक दूसरे को हरा नहीं...

पाकिस्तान के क्वेटा शहर में शक्तिशाली बम विस्फोट से 17 की मौत, 30 घायल
पाकिस्तान के क्वेटा शहर में शक्तिशाली बम विस्फोट से 17 की मौत, 30 घायल

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के क्वेटा शहर में सुरक्षा बलों के एक वाहन को निशाना बना कर बम विस्फोट...

पाकिस्तान ने भारत पर 600 से ज़्यादा बार सीजफायर उल्लंघन का आरोप लगाया
पाकिस्तान ने भारत पर 600 से ज़्यादा बार सीजफायर उल्लंघन का आरोप लगाया

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने भारत पर इस साल 600 से ज़्यादा बार सीज़फायर उल्लंघन करने का आरोप लगाया....

विवादित बयान को लेकर अवमानना का सामना कर रहे हैं इमरान खान
विवादित बयान को लेकर अवमानना का सामना कर रहे हैं इमरान खान

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विपक्ष के नेता इमरान खान अदालत की अवमानना (contempt of court) की कार्यवाही का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017