इंग्लैंड: तीन लोग मिलकर देंगे बच्चे को जन्म

By: | Last Updated: Wednesday, 4 February 2015 3:54 AM
Britain votes to allow world’s first ‘three-parent’ IVF babies

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: इंग्लैंड ने विश्व पटल पर कई एतिहासिक काम किए हैं और एक बार फिर से इस देश ने इतिहास रच दिया है. यहां तीन लोगों के डीएनए से ‘आइवीएफ बेबी’ को जन्म देने वाले बिल को कानूनी मान्यता देने पर ब्रिटिश संसद के हाउस ऑफ कामंस ने अपनी मुहर लगा दी है. ब्रिटेन के मौजूदा आइवीएफ संबंधी कानून में बदलाव के प्रस्ताव पर संसद के निचले संसद में मतदान हुआ.

 

90 मिनट तक चली जोरदार बहस के बाद हुए मतदान में प्रस्ताव के पक्ष में 382 सांसदों ने वोट डाला, जबकि 128 ने इसका विरोध किया. हाउस ऑफ कामंस से इस प्रस्ताव को हरी झंडी मिलने के बाद ब्रिटेन दुनिया का ऐसा पहला देश बन गया जहां मां, बाप और एक अन्य महिला डोनर के डीएनए से ‘आइवीएफ बच्चे’ को जन्म देने को कानूनी मान्यता होगी.

 

ऐसा कैसे होगा संभव

 

माइटोकांड्रियल डीएनए (एम- डीएनए) दाता तकनीक के इस्तेमाल से एक बच्चा और तीन जन्म देने वाले की अवधारणा को अमली जामा पहनाया जाना संभव हो सकेगा. एम-डीएनए, जो मां के माध्यम से बच्चे में जाता है. इसके तहत प्रावधान किया गया है कि सामान्य रूप से माता-पिता से न्यूक्लियर डीएनए प्राप्त करने वाले भ्रूण में अन्य महिला दाता से स्वस्थ एम डीएनए का कुछ अंश भी दिया जाएगा.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Britain votes to allow world’s first ‘three-parent’ IVF babies
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017