भारत में कैंसर जैसी बीमारियों से मौत की आशंकाएं बढ़ीं: WHO

By: | Last Updated: Monday, 19 January 2015 2:46 PM

जिनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की आज जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 2010 से 2012 के बीच कैंसर जैसी गैर-संक्रामक बीमारियों से समय पूर्व मौत की आशंका बढ़ गयी है और ये दुनियाभर में मौत के बड़े कारण के रूप में उभरी हैं.

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा गैर-संक्रामक रोगों (एनसीडी) पर कराये गये एक ताजा वैश्विक अध्ययन के अनुसार चार मुख्य एनसीडी में हृदय संबंधी बीमारियां, कैंसर, मधुमेह और सांस संबंधी पुराने रोग शामिल हैं.

 

गैर-संक्रामक रोगों की रोकथाम और नियंत्रण के मामले में दुनियाभर में हुई प्रगति पर नजर रखने की श्रृंखला में यह दूसरी रिपोर्ट है.

 

रिपोर्ट में आगाह किया गया है कि भारत में 30 से 70 साल की आयु के लोगों में गैर-संक्रामक रोगों से मृत्यु की आशंका 2010 में 26.1 प्रतिशत होती थी जो 2012 में बढ़कर 26.2 फीसदी हो गयी.

 

रिपोर्ट कहती है कि दुनियाभर में मौत के 5.6 करोड़ मामलों में 68 प्रतिशत मामलों में गैर-संक्रामक रोग कारण रहे. मसलन 2012 में 3.8 करोड़ लोग इन बीमारियों का शिकार हुए और इस तरह ये रोग दुनियाभर में जान जाने का बड़ा कारण बन गये हैं.

 

रिपोर्ट के अनुसार इनमें से 40 प्रतिशत से अधिक मामले (करीब 1.6 करोड़) समय पूर्व मौत के थे और मृतकों की उम्र 70 साल से कम रही.

 

रिपोर्ट में भारत को निम्न-मध्यम आय वाले देश की श्रेणी में रखा गया है. रिपोर्ट तैयार करने में शामिल प्रमुख लेखक शांति मेंडिस ने कहा, ‘‘भारत के पास संसाधन हैं. उसे समेकित तरीके से अपनी प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधा प्रणाली को मजबूत करने की जरूरत है. भारत अंतरिक्ष में पहुंच गया है लेकिन इसकी जनता का क्या ?’’

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Cancer_WHO_Health_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Cancer Health WHO
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017