चीन की यांगत्सी नदी में 450 से अधिक यात्रियों से भरा जहाज डूबा

By: | Last Updated: Tuesday, 2 June 2015 12:13 PM
china

बीजिंग: चीन में हुबेई प्रांत में एशिया की सबसे लंबी नदी यांगत्सी में आए चक्रवात की चपेट में आने के बाद 450 से ज्यादा लोगों को लेकर जा रहे एक जहाज के डूबने से कम से कम पांच लोगों की मौत हो गयी. सैकड़ों लापता हैं तथा उनकी तलाश के लिए बचावकर्ताओं को कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.

 

घटना में जीवित बचे जहाज के कप्तान और मुख्य इंजीनियर ने बताया है कि गुरूवार को दोपहर एक बजकर 15 मिनट (स्थानीय समयानुसार) पर नानजिंग शहर से चोंगक्वींग रवाना हुआ जहाज सेंट्रल हुबेई प्रांत के जियानली में विपरीत मौसम में फंसकर एक दो मिनट के भीतर ही डूब गया.

 

जहाज के कप्तान और मुख्य इंजीनियर को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया और हादसे के कारण की जांच की जा रही है.

 

सरकारी सीसीटीवी के मुताबिक 6,300 किलोमीटर लंबी यांगत्सी में 458 लोगों को लेकर जा रहे जहाज के देर रात डूबने के बाद अब तक 14 लोगों को बचाया गया है और कम से कम पांच लोगों की मौत हो गयी.

 

बचाव के अंतिम प्रयासों के तहत चीनी सरकार ने जहाज के भीतर पाइप से ऑक्सीजन देने और आवाजें रिकॉर्ड करने का आदेश दिया है जिससे कि और लोगों को जीवित निकाला जा सके.

 

सरकारी टेलीविजन ने जहाज के एक हिस्से को दिखाया है जहां पानी नहीं गया है. बचावकर्ता उस जगह से लोगों को निकालने की कोशिश कर रहे हैं.

 

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने राहत तथा बचाव प्रयासों को निर्देशित करने के लिए स्टेट कौंसिल की एक कार्यकारी टीम को घटनास्थल पर जाने का निर्देश दिया जिसके बाद प्रधानमंत्री ली क्विंग घटनास्थल रवाना हुए.

 

ली ने बचाव टीमों को आवाज रिकार्ड किये जाने के बाद जहाज के भीतर ऑक्सीजन पहुंचाने का आदेश दिया. जहाज के डूबने का वास्तविक कारण अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन कप्तान और मुख्य इंजीनियर दोनों ने कथित तौर पर कहा है कि यह ‘‘चक्रवात’’ में फंस गया था. डूबने की घटना पिछले कई दशकों में सबसे त्रासद है. यांगत्सी के जियानली में कल रात स्थानीय समयानुसार साढ़े नौ बजे के करीब यह चार मंजिला जहाज 15 मीटर गहरे पानी में डूब गया. गोताखारों ने जहाज के भीतर से 65 साल की एक महिला को बचा लिया. ईस्टर्न स्टार रेंज जहाज पर तीन से लेकर 83 साल की उम्र के लोग सवार थे जिसमें अधिकतर 60 से 70 साल के थे. युईयांग समुद्री बचाव केंद्र के एक वरिष्ठ अधिकारी वांग यांगशेंग ने बताया कि यह हादसा इतना अचानक हुआ कि कप्तान को आपात संदेश भेजने का भी मौका नहीं मिला.

 

जहाज पर 406 यात्री, पांच पर्यटक गाइड और चालक दल के 47 सदस्य सवार थे.

 

समाचार मिलने के बाद पिछले सप्ताह जिस बंदरगाह से यह जहाज रवाना हुआ था वहां आज सुबह यात्रियों के परिवार जमा हुए. 76 मीटर का यह जहाज पिछले 20 साल से सेवा में था और 534 लोग इस पर सवार हो सकते थे.

 

पुलिस, समुद्री अधिकारियों और दमकल विभाग ने राहत अभियान के लिए घटनास्थल पर 36 जहाजों और 117 नौकाओं को रवाना किया है. 1840 सैनिक, 1600 पुलिसकर्मी और 1,000 नागरिक सहायता कार्यक्रम के लिए जमा हुए पर खराब मौसम के कारण राहत प्रयासों में बाधा आयी. नानजिंग में सरकार संचालित शंघाई शिहे ट्रैवल एजेंसी के 100 पर्यटकों के साथ जहाज पर 400 से ज्यादा लोग सवार हुए थे. इसमें अधिकतर लोग शंघाई और पड़ोसी जियांगसू प्रांत के रहने वाले थे. पिछले सप्ताह जिस बंदरगाह से यह जहाज रवाना हुआ था वहां यह समाचार मिलने के बाद आज सुबह यात्रियों के परिवार जमा हुए. 76 मीटर का यह जहाज पिछले 20 साल से सेवा में था और 534 लोग इस पर सवार हो सकते थे.

 

चिंतित परिजन शंघाई में शिहे ट्रैवल एजेंसी में भी जमा हुए. कुछ लोगों ने कहा कि ट्रैवल एजेंसी की तरफ से अभी तक उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गयी है.

 

बारिश के कारण बचाव अभियान में दिक्कतें आयी. चाइना सेंट्रल मेट्रोलॉजिकल स्टेशन ने कहा है कि इस नदी से लगते अधिकतर हिस्सों में अगले 10 दिनों तक बारिश होगी. जहां पर तलाशी अभियान चल रहा है उस इलाके में भारी बारिश होने के आसार हैं.

 

मीडिया खबरों के मुताबिक एक जांच में पता चला है कि जहाज में क्षमता से ज्यादा लोग सवार नहीं थे और इसमें पर्याप्त लाइफ जैकेट थे.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: china
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017