चीन ने माना कि ‘यूएस एफ-35’ का अमेरिकी स्टील्थ लड़ाकू विमानों से कोई मुकाबला नहीं है

By: | Last Updated: Friday, 12 December 2014 7:56 AM
China Admits Stealth Fighter Not a Match to US F-35

बीजिंग: चीन ने इस बात से इंकार किया है कि दुश्मनों की निगाह से बचकर निकलने में सक्षम उसका नया लड़ाकू विमान जे-31 अमेरिका के एफ-35 ज्वाइंट स्ट्राइक लड़ाकू विमान से आगे का नहीं है और यह भी माना कि उसका लक्ष्य हमेशा से ही अमेरिकी विमान को चुनौती देने का रहा है. जे-31 की निर्माता ‘एविएशन इंडस्ट्री कॉरपोरेशन ऑफ चाइना’ (एवीआईसी) के अध्यक्ष लिन जूमिंग ने सीसीटीवी के साथ साक्षात्कार में इस बात से इंकार किया किया कि आसमान में उड़ान भरते वक्त जे-31 अपने विरोधी विमान को पीछे छोड़ने में सक्षम होगा.

 

लिन ने बताया कि उन्हें ‘पूरा विश्वास’ है कि कंपनी के प्रमुख डिजाइनर ने जे-31 का डिजाइन तैयार करते वक्त ‘विरोधी मॉडल’ को विचार में रखा था. स्टील्थ लड़ाकू विमान को पिछले महीने चीन के शहर झुहाई में विमान प्रदर्शनी में पेश किया गया था और चीन की आधिकारिक मीडिया में इसकी बहुत चर्चा हुई थी. पाकिस्तान के रक्षा उत्पादन मंत्री राणा तनवीर हुसैन ने कहा था कि उनका देश इसे पाकिस्तानी वायुसेना में शामिल करने के लिए चीन के साथ बातचीत कर रहा है.

 

जे-31 के प्रमुख डिजाइनर सुन कांग ने कहा कि जे-31 यूएस के अपने समकक्ष से कुछ मामलों में बेहतर प्रदर्शन करता है. उन्होंने माना कि हालांकि इसमें कुछ खामियां भी हैं. जे-31 चीन का दूसरा स्वदेशी स्टील्थ लड़ाकू विमान है. जे-20 स्टील्थ लड़ाकू विमान की तुलना में यह जे-31 स्टील्थ लड़ाकू विमान एक छोटा दो इंजन वाला लड़ाकू विमान है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: China Admits Stealth Fighter Not a Match to US F-35
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017