पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘निशान ए पाकिस्तान’ से नवाजे गए शी जिनपिंग

By: | Last Updated: Tuesday, 21 April 2015 2:20 PM

इस्लामाबाद: चीन के राष्ट्रपति शी-जिनपिंग को मंगलवार को पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान निशान-ए-पाकिस्तान से नवाजा गया. राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने यहां पर ऐवान-ए-सद्र में एक संक्षिप्त समारोह में उन्हें यह सम्मान प्रदान किया.

 

राष्ट्रपति भवन में आयोजित इस समारोह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, संघीय मंत्री, नेशनल असेंबली और सीनेट के सदस्य, सेवा प्रमुख और चीन के राष्ट्रपति के साथ पाकिस्तान के दौरे पर आया प्रतिनिधिमंडल मौजूद रहा.

 

‘निशान-ए-पाकिस्तान’ पाकिस्तान सरकार द्वारा दिया जाने वाला सबसे बड़ा नागरिक सम्मान और अलंकरण है. यह सम्मान 19 मार्च 1957 को शुरू किया गया था. दिवंगत भारतीय प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई को भी 1990 में इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

 

शी ने चीन के आतंकवाद रोधी कार्रवाई को लेकर पाक की सराहना की

 

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने आतंकवाद रोधी अभियान को लेकर और खासतौर पर मुस्लिम बहुल अशांत शिंजियांग प्रांत में अलगावादियों पर कार्रवाई करने में सहयोग करने के लिये आज पाकिस्तान की सराहना की. ऐसे वक्त जब भारत इस्लामाबाद पर सीमा पार से आतंकवाद को रोकने के लिए दबाव डाल रहा है.

 

अपने सदाबहार मित्र देश पाकिस्तान की दो दिवसीय ऐतिहासिक राजकीय यात्रा पर आये शी ने पाकिस्तान की संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित किया, जो किसी चीनी राष्ट्रपति के लिए पहला मौका था.

 

शी ने संसद में एक भाषण में आर्थिक सहयोग को सुरक्षा से जोड़ते हुए कहा कि चीन और पाकिस्तान, दोनों ही देश सुरक्षा में साझी भागीदारी रखते हैं. इस का प्रसारण राष्ट्रीय स्तर पर किया गया.

 

शी ने कहा, ‘‘इन बरसों में पाकिस्तान हर तरह की मुश्किलों से निकला है और इसने चीन के पश्चिमी सीमावर्ती इलाकों की सुरक्षा एवं स्थिरता में काफी योगदान दिया है. यह कुछ ऐसा है जिसे हम नहीं भूलेंगे.’’ उन्होंने पाकिस्तान की आतंक रोधी कोशिशों की भी सराहना करते हुए कहा कि इस्लामाबाद आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अग्रिम पंक्ति पर हमेशा खड़ा रहा है और इसने अपनी ओर से बड़ी कुर्बानी दी है.

 

शी की टिप्पणी ऐसे वक्त आई है जब पाकिस्तान ने आतंकवाद से निपटने में सहयोग के प्रति अपना संकल्प जताया है.

 

शरीफ ने संसद को बताया, ‘‘हम आतंकवाद की समस्या का खात्मा करने के लिए लड़ेंगे. आतंकवाद के खिलाफ हमारी संयुक्त कोशिश अब तक सफल रही है लेकिन हमें अपने लक्ष्यों को हासिल करने के लिए कोशिश तेज करनी होगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे रक्षा संबंध मजबूत हैं: और आने वाले समय में ये मजबूत होंगे.’’

 

पाकिस्तानी मीडिया ने चीन के साथ समझौतों को खूब सराहा

 

पाकिस्तान के समाचार माध्यमों ने चीन के साथ हुये आर्थिक गलियारा सहित विभिन्न समझौतों को पासा पलटने वाला बताते हुये उनका स्वागत किया है.

 

गौरतलब है कि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की पाकिस्तान की मौजूदा यात्रा में दोनों देशों के बीच आर्थिक गलियारे की 46 अरब डालर की परियोजनाओं के लिए करार किये गये. स्थानीय मीडिया ने शी की पहली पाकिस्तान यात्रा की खबरें भी विस्तार से दी हैं.

 

पाकिस्तान के अंग्रेजी अखबार डॉन ने, ‘‘आर्थिक गलियारा पर जोर, चीन-पाकिस्तान के बीच 51 करार पर दस्तखत’’ शीषर्क खबर में लिखा है कि इन समझौतों पर प्रधानमंत्री कार्यालय में एक ऐतिहासिक समारोह में हस्ताक्षर किये गये, जो द्विपक्षीय समझौतों के विविध पहलुओं से जुड़े हैं.

 

न्यूज इंटरनेशनल ने अपने आमुख पेज पर यह समाचार दिया है. अखबार ने लिखा है कि दोनों देश द्विपक्षीय व्यापार 20 अरब डालर तक पहुंचाने पर राजी हुये हैं.

 

डेली टाइम्स ने पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन के हवाले से लिखा है कि आर्थिक गलियारे का समझौता इस क्षेत्र में पासा पलटने वाला समझौता है और इससे समृद्धि की एक नयी यात्रा शुरू हुयी है.

 

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने ‘‘पाकिस्तान-चीन संबंध नयी बुलंदियों पर’’ शीषर्क खबर के तहत लिखा है, कि दोनों पक्षों ने ‘दु:ख सुख के रणनीतिक सहयोग के भागीदार’ का संबंध स्थापित करने का संकल्प लिया है. अखबार की राय में दोनों के बीच आर्थिक सहयोग से पूरे क्षेत्र का कायाकल्प हो सकता है.

 

उर्दू अखबारों ने भी शी की यात्रा को एक नया मोड़ बताते हुये इससे संबंधित खबरें आज विस्तार से प्रकाशित की हैं. पाकिस्तान के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने भी इस यात्रा की पल-पल की खबर प्रसारित कीं.

 

पाकिस्तान ने चीन के राष्ट्रपति को सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा

 

पाकिस्तान ने आज चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘निशान ए पाकिस्तान’ से नवाजा. उन्हें यह सम्मान दोनों देशों के संबंधों को मजबूत करने में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया गया है.

 

पुरस्कार समारोह राष्ट्रपति आवास में हुआ जहां राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने 61 वर्षीय शी को सम्मानित किया. कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, संघीय मंत्री, नेशनल असेंबली और सीनेट के सदस्य, सेना प्रमुख और चीनी प्रतिनिधिमंडल के सदस्य शामिल थे.

 

पुरस्कार पाकिस्तान के साथ चीन के संबंधों को आगे ले जाने में शी के उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया गया. सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव शी का राष्ट्रपति आवास पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया.

 

शी ने हुसैन से द्विपक्षीय वार्ता भी की, जिन्होंने बाद में उनके सम्मान में भोज का आयोजन किया. अपनी पहली पाकिस्तान यात्रा पर कल यहां पहुंचे शी ने 46 अरब डॉलर की लागत वाली गलियारा परियोजना की शुरूआत की.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: china president xi jinping
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017