कहीं ये सफेद बुलेट ट्रेन, सफेद हाथी तो नहीं है?

By: | Last Updated: Saturday, 5 July 2014 12:09 PM
china_bullettrain_india_groundzero_report

चीन : भारत के तरह ही चीन एक बहुत पुरानी और महान सभ्यता है . संस्कृति है. भारत की तरह ही चीन ने विदेशी ताकतों की मार सही है . सालों तक दबाये जाने के बाद चीन अब दुनिया के नक्शे पर अपनी चमक दिखा रहा है.

 

आज चीन दुनिया का सबसे बड़ा एक्सपोर्टर है दुनिया भर के बाजार चीन के सामान से पटे पड़े हैं . इसी सिलसिले को आगे बढ़ाता है यहां की हाई स्पीड रेल नेटवर्क. एचएसआर यानी वो ट्रेन जो 250 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़े .

 

आज भारत में भी बुलेट ट्रेन चलाने की चर्चा तेज है . ये बुलेट ट्रेन कैसी दिखती है ये बुलेट ट्रेन होती कैसी है . अंदर से बाहर से . ये कैसे गोली सी रफ्तार पकड़ती है  और इन सबसे बड़ा सवाल भारत के लिये  कि क्या भारत को भी ऐसी ट्रेन चलानी चाहिये या बनानी चाहिये .

 

बेजिंग के साउथ बेजिंग रेलवे स्टेशन से साल 2008 में पहली बार चीन का हाई स्पीड ट्रेन का सफर शुरु हुआ था ये सफर 6 साल में कहां तक पहुंच गया इस बात का अंदाजा इससे लगा सकते हैं कि आज चीन में दुनिया का सबसे लंबा हाई स्पीड रेल नेटवर्क है .

 

जैसे भारत में कि स्टेशन छोड़ने नाते – रिश्तेदार ..दोस्त यार और कभी कभी तो पूरा मोहल्ला चला आता है वह यहां के रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर संभव नहीं है. और ना हीं यहां चाय और चाट वालों का मेला ठेला होता है .  कुल मिलाकर दिलवाले दुल्हनियां ले जायेंगे के शाहरुख और काजोल की आखिरी सीन की गुंजाइश यहां के प्लेटफॉर्म पर नहीं है .

 

न कोई झटका न शोर चाइना की हाई स्पीड ट्रेन चलते ही अपनी रफ्तार का एहसास करा देती है .  इसकी औसतन रफ्तार 260 किमी प्रति घंटा है जबकि अधिकतम रफ्तार 350 किमी प्रति घंटा है. हिंदुस्तान की शताब्दी की औसतम रफ्तार 100 किमी प्रति घंटा और अधिकतम रफ्तार 150 किमी प्रति घंटा है . बात सिर्फ रफ्तार की ही नहीं है बल्कि सुविधाओं की भी है .

 

दरअसल स्टेशन से लेकर ट्रेन के भीतर तक एयरपोर्ट और हवाई जहाज जैसा माहौल बनाया जाता है . मसलन एलिवेटर के पास होस्टेस या परिचारिका आपके स्वागत के लिये मौजूद होती हैं और यही हाल ट्रेन के अंदर भी होता है . जहां होस्टेस अपने खास लिबास में यात्रियों की आवभगत में लगी रहती हैं .

 

जिस तरह हवाई जहाज में अलग- अलग तरह की सीट और क्लास होती हैं वैसी क्लास और सीट बुलेट ट्रेन में मौजूद है . सेकेण्ड क्लास में एक रो में पांच सीटें होती हैं जबकि फर्स्ट क्लास में 4 . इस क्लास में सीटें कुछ ज्यादा आरामदेह होती हैं . एक और क्लास होती है बिजनेस क्लास इसकी सीटें 180 डिग्री यानी एक बिस्तर की तरह सपाट हो जाती हैं और आप चाहें तो इसे 360 डिग्री पर घुमा भी सकते है . अगर आप पढ़ना चाहें तो आपके लिये रीडिंग लाइट्स हैं और टीवी देखना चाहें वो भी आपके लिये मौजूद हैं . कुछ ट्रेन में तो बिस्ट्रो भी मौजूद है जहां आप चाहे तो खाने पीने के साथ बियर वगैरह भी पी सकते हैं.

 

मतलब यात्रा के दौरान आराम की पूरी व्यवस्था होती है . इसके लिये खास तरह की पटरियां बिछानी पड़ती है . खास तरह के कोच तैयार करने पड़ते हैं . और जो पटरियां होती हैं उस पर सिर्फ यात्री गाड़ी या ट्रेन ही चल सकती है . इसे पैसेंजर डेडिकेटेड लाइन कहते हैं. कुल मिलाकर बुलेट ट्रेन चलाना काफी मंहगा सौदा होता है . इसलिये टिकट भी मंहगी होती है और वो भी तीन गुनी मंहगी .

 

बुलेट ट्रेन या हाई स्पीड ट्रेन नेटवर्क फैलाने में चीन आज नंबर वन है . लेकिन इस रेस में चीन बहुत बाद में आया . जिसे  हाई स्पीड ट्रेन कहते हैं उसे सबसे पहले जापान ने चलाया था . 1964 में . इसके बाद फ्रांस जर्मनी जैसे कई यूरोपीय देशों ने रफ्तार के रिकार्ड बनाये .

 

एक और बात चीन ने तेज रफ्तार बुलेट ट्रेन चलाने की बात शुरु की 1990 में औपचारिक घोषणा की 1995 में . काम शुरु हुआ सन 2000 के बाद . लेकिन काम की रफ्तार देखिये 2011 आते आते दुनिया का सबसे लंबा हाई स्पीड ट्रेन नेटवर्क चीन में हैं . वैसे हिंदुस्तान में इसके बारे में बात पहली बार तब हुई जब 1984 में राजीव गांधी की सरकार में माधव राव सिधिया रेल मंत्री बने . इस बात के 30 साल बाद आज फिलहाल भारत का फोकस  अभी इस बात पर है कि मौजूदा रेलवे व्यवस्था को सुधार कर 160 से 200 किलोमीटर प्रतिघंटा की स्पीड से ट्रेन चलाई जाये . और शताब्दी और राजधानी जैसी ट्रेनों की औसत स्पीड को 130 तक पहुंचाया जाये .

 

बीजेपी ने अपने चुनावी घोषणापत्र में स्वर्णिम चतुर्भुज सड़क योजना की तर्ज पर डायमंड क्वाड्रिलेटरेल रेल चलाने का वादा किया था. नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने पहले अभिभाषण में भी इसका जिक्र किया था. दूसरी तरफ मुंबई – अहमदाबाद रेल लाइन पर बुलेट ट्रेन चलाये जाने की संभावनाओं पर जापान की मदद से रिपोर्ट तैयार की जा रही है  और चीन से स्टेशन की व्यवस्था दुरुस्त करने के लिये सहयोग की संभावना पर चर्चा हो रही है .

 

टी एन नैनन के अनुसार भारत में चीन की तरह हाई स्पीड ट्रेन चलाने के लिए दो साल पहले जो अनुमान लगाया गया था उसके मुताबिक मुंबई-अहमदाबाद कॉरीडोर को बनाने के लिए लगभग खर्चा 60 हजार करोड़ रुपए लगने की उम्मीद थी. ये खर्च पूरे देश के रेलवे यात्री किराये से होने वाली कमाई के बराबर है. टी एन नैनन (T N N inan)के मुताबिक भारत में ऐसी ट्रेन में यात्रियों को प्रति किलोमीटर 6 से 8 रुपए देने पड़ेंगे जो कि शताब्दी के किराये से तीन से चार गुना ज्यादा है और लगभग हवाई यात्रा के किराये के बराबर है.

 

 

लेकिन क्या भारत को भी ऐसी ट्रेन चलानी चाहिये . बीजिंग ट्रांसपोर्ट यूनिवर्सिटी में रेल और उससे जुड़ी अर्थव्यवस्था का अध्ययन करने वाले  प्रोफेसर जॉव जियान का मानना है कि चीन ने सामान्य ट्रेन की जगह बुलेट ट्रेन चला कर बहुत बड़ी गलती की है और भारत को ये गलती नहीं दोहरानी चाहिये .

 

इन बुलेट ट्रेनों में आधी सीटें करीब खाली हैं. इन्हीं खाली सीटों को भरने के लिये रेलवे कॉरपोरेशन को किराया घटाना पड़ा है . जबकि कुछ लाइनों में ट्रेनों की संख्या कम करनी पड़ी है . रखरखाव के खर्चे को कम करने के लिये ट्रेन की स्पीड को भी कम की गई है . सवाल ये उठ रहे हैं कि कहीं ये सफेद बुलेट ट्रेन, सफेद हाथी तो नहीं है .  

हाई स्पीड ट्रेन को चीन सरकार अपनी एक बड़ी उपलब्धी बताती रही है . इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि पूर्व चीनी राष्ट्रपति हू जीन ताओ ने अपनी तीन उपलब्धि बताई तो उसमें चन्द्रमा पर चीन का यान  अंतरिक्ष में मानव रहित यान और बुलेट ट्रेन उसमें शामिल थे . इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि चीन के लिये राजनीतिक रुप से कितना अदम मामला है बुलेट ट्रेन.

 

चीन में बुलेट ट्रेन के पक्ष में सबसे बड़ी बात जो कही जाती है वो ये कि छोटे शहरों को बड़े शहरों की अर्थव्यवस्था से जोड़ देती है . दूसरी बात ये कि जब ज्यादा यात्री हाई स्पीड ट्रेन से यात्रा करने लगेंगे तब पुरानी सामान्य लाइनों पर से दवाब हटता है . और सामान्य लाइन का इस्तेमाल मालगाड़ियों के लिये किया जा सकता है . कम समय. में माल की ढुलाई एक जगह से दूसरी जगह तक हो सकेगी .

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: china_bullettrain_india_groundzero_report
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

अब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करेंगी मलाला यूसुफजई!
अब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करेंगी मलाला यूसुफजई!

लंदन: पाकिस्तानी अधिकार कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने आज ‘ए-लेवल’ रिजल्ट हासिल कर लिया. इसके...

सियरा लियोन में भयानक बाढ़, लैंडस्लाइड से 300 से ज्यादा की मौत की खबर
सियरा लियोन में भयानक बाढ़, लैंडस्लाइड से 300 से ज्यादा की मौत की खबर

फ्रीटाउन: सियरा लियोन की राजधानी फ्रीटाउन में भीषण बाढ़ के कारण 105 बच्चों की मौत हो गई. फ्रीटाउन...

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

नेपाल में बाढ़ का कहर, अब तक 120 लोगों की मौत, 60 लाख लोग प्रभावित
नेपाल में बाढ़ का कहर, अब तक 120 लोगों की मौत, 60 लाख लोग प्रभावित

काठमांडो: नेपाल में लगातार बारिश के चलते आई बाढ़ और लैंडस्लाइड  मरने वालों की संख्या बढ़कर 120 हो...

मोदी को ट्रंप का फोन, 'प्रशांत महासागर क्षेत्र में शांति बढ़ाने पर जताई सहमति'
मोदी को ट्रंप का फोन, 'प्रशांत महासागर क्षेत्र में शांति बढ़ाने पर जताई...

वाशिंगटन: व्हाइट हाउस ने कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम नरेन्द्र मोदी एक नई...

भारत, चीन एक दूसरे को हरा नहीं सकते: दलाई लामा
भारत, चीन एक दूसरे को हरा नहीं सकते: दलाई लामा

मुंबई: तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा ने सोमवार को कहा कि भारत और चीन एक दूसरे को हरा नहीं...

पाकिस्तान के क्वेटा शहर में शक्तिशाली बम विस्फोट से 17 की मौत, 30 घायल
पाकिस्तान के क्वेटा शहर में शक्तिशाली बम विस्फोट से 17 की मौत, 30 घायल

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के क्वेटा शहर में सुरक्षा बलों के एक वाहन को निशाना बना कर बम विस्फोट...

पाकिस्तान ने भारत पर 600 से ज़्यादा बार सीजफायर उल्लंघन का आरोप लगाया
पाकिस्तान ने भारत पर 600 से ज़्यादा बार सीजफायर उल्लंघन का आरोप लगाया

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने भारत पर इस साल 600 से ज़्यादा बार सीज़फायर उल्लंघन करने का आरोप लगाया....

विवादित बयान को लेकर अवमानना का सामना कर रहे हैं इमरान खान
विवादित बयान को लेकर अवमानना का सामना कर रहे हैं इमरान खान

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विपक्ष के नेता इमरान खान अदालत की अवमानना (contempt of court) की कार्यवाही का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017