कॉफी के जिनोम का पूरा चित्रण किया वैज्ञानिकों ने

By: | Last Updated: Friday, 5 September 2014 2:58 PM
coffee

लंदन: भारत सहित कुछ देशों के वैज्ञानिकों ने कॉफी के पौधे के जिनोम (गुण सूत्र) का पूरा चित्रण करने में सफलता हासिल कर ली है. इससे कॉफी की प्रजातियों में सुधार और इसके उत्पादन में वृद्धि में मदद मिल सकती है.

 

इस वैज्ञानिक शोध से यह पता लगता है कि कॉफी के जीन चाय या चाकलेट से अलग है, भले ही इन दोनों में काफी की तरह कैफीन पैदा होती है. इसका मतलब यह है कि कॉफी में कैफीन से जुडे जीन किसी समान प्रारंभिक स्रोत से नहीं आते बल्कि इनका विकास स्वत: हुआ है.

 

उल्लेखनीय है कि कॉफी दुनिया में सबसे ज्यादा पीये जाने वाले पेय में से एक है. हर दिन 2.25 अरब कप कॉफी पी जाती है. अनेक उष्णकटिबंधीय देशों में यह प्रमुख उत्पाद है.

 

फ्रेंच इंस्टीट्यूट आफ रिसर्च एंड डेवलपमेंट के अनुसंधानकर्ता फिलिप्प लेशरमेस ने कहा कि कॉफी सुबह जल्दी उठने वालों के साथ साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए भी महत्वपूर्ण है. काफी के जिनोम का पूर्ण चित्रण कॉफी की प्रजातियों में सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण कदम हो सकता है.

 

वैज्ञानिकों के इस अध्ययन के निष्कर्ष जनरल साइंस में प्रकाशित हुआ है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: coffee
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017