...मिलिए दुनिया के 'बेस्ट पापा' से!

By: | Last Updated: Tuesday, 11 March 2014 3:34 PM
Daddy_

बीजिंग: वैसे तो हर बच्चे के लिए उनके पापा दुनिया के बेस्ट होते हैं. लेकिन ये कहानी कुछ अलग है. चीन के एक पापा शियांग हर दिन अपने शारीरिक रूप से अक्षम बेटे को स्कूल में पढ़ाने के लिए उसे पीठ पर लादकर हर दिन 29 किलोमीटर पैदल चलते हैं.

 

डेली मेल के मुताबिक चीन का यह शख्स जन्म से अपाहिज अपने बेटे को पढ़ा-लिखाकर कुछ बनाने का सपना संजोए हर दिन उसे पीठ पर लेकर 18 मील ( करीब 29 किलोमीटर) चलता है. वह बेटे को स्कूल छोड़ता है, फिर वापस लौटकर काम पर जाता है और फिर बेटे के स्कूल जाकर उसे पीठ पर लादकर घर लाता है. पीठ में तकलीफ के बाद भी यह जुनूनी पिता हार मानने को तैयार नहीं है. अच्छी खबर यह है कि स्थानीय मीडिया में खबर आने के बाद स्थानीय प्रशासन अब इस बच्चे को स्कूल के पास ही आवास देने की सोच रहा है.

 

चीन के शुचुवान प्रांत में रहने वाले 40 वर्षीय ये शियांग का 12 साल का बेटा शियांओ चियांग जन्म से शारीरिक रूप से अक्षम है. शियांग नौ साल पहले अपनी पत्नी से अलग हो चुके हैं. शियांग ने बेटे को अकेले पालने और उसे अच्छी से अच्छी शिक्षा देने की ठानी है.

 

शियांग ने बताया कि वह हर सुबह 5 बजे उठ जाते हैं. बेटे के लिए लंच बनाते हैं और फिर उबड़-खाब़ड़ रास्तों से गुजरते हुए उसे स्कूल छोड़ते हैं. फिर काम करने के लिए वापस आते हैं. इसके बाद वह फिर स्कूल जाते हैं और बेटे को घर लाते हैं. बेटे को पीठ पर लगातार ले जाने के कारण उनकी पीठ में तकलीफ भी शुरू हो गई है, लेकिन वह हार मानने को तैयार नहीं है.

 

शियांग कहते हैं कि मेरे बेटा शारीरिक रूप से सक्षम न होने के कारण स्कूल नहीं जा सकता. 12 साल का होने के बाद भी उसका कद 90 सेंटीमीटर बढ़ा है. लेकिन मुझे अपने बेटे पर गर्व है. वह अपने क्लास में सबसे आगे रहता है. मुझे भरोसा है कि वह एक दिन कामयाबी की सीढ़िया चढ़ेगा. शियांग का सपना बेटे को कॉलेज में पढ़ाने का है.

 

शियांग ने बताया कि आसपास के स्कूलों में उनके बेटे को दाखिला नहीं मिला. आखिरकार उन्हें घर से 5 मील (करीब 8 किलोमीटर) दूर शुचुवान प्रांत के प्राइमरी स्कूल में दाखिला मिला. इलाके में बस की सुविधा न होने को कारण शियांग के सामने सबसे बड़ी समस्या बेटे को स्कूल ले जाने की थी. शियांग ने बेटे को पीठ पर लादकर स्कूल लाने-ले जाने का बेहद कठिन फैसला लिया. उन्होंने इसके लिए एक खास तरह का टोकरा बनाया. इस टोकरे में बेटे को रखकर शियांग सितंबर से रोज बेटे को स्कूल ले जा रहे हैं.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Daddy_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017