हाफिज सईद, जकीउर रहमान लखवी और दाऊद इब्राहिम ये लोग भी सिर्फ बुरे हैं जनाब

By: | Last Updated: Wednesday, 17 December 2014 2:22 PM
daud ibrahim

नई दिल्ली : पेशावर हमले के बाद नवाज शरीफ ने एक ब़ड़ी बात कही है . उन्होंने कहा कि तालिबान अच्छा या बुरा नहीं होता है.

 

नवाज शरीफ ने कहा कि तालिबान अच्छा या बुरा नहीं होता . पेशावर में 132 बच्चों की मौत के बाद अब पाकिस्तान को समझ आया है कि गुड तालिबान और बैड तालिबान का उसका जुमला कितना गलत था? काश ! अगर पाकिस्तान को ये बात पहले समझ में आ गई होती तो आज हमें दर्द का ये मंजर नहीं देखना पड़ता.

 

नवाज शरीफ का ये बयान हर नजरिए से स्वागत योग्य है लेकिन यहीं पर एक सवाल भी मन में कौंध रहा है. क्या पाकिस्तान अब ये भी मानेगा कि जिस तरह तालिबान अच्छा या बुरा नहीं हो सकता, उसी तरह हाफिज सईद, जकीउर रहमान लकवी और मुंबई हमले का गुनहगार दाऊद इब्राहिम भी अच्छे या बुरे नहीं बल्कि हर तरीके से बुरे हैं?

 

आपको बता दें कि तालिब का शाब्दिक अर्थ होता है-इच्छुक और तालिब-ए-इल्म का मतलब है शिक्षा का इच्छुक या छात्र . इसी से जुड़ा शब्द होता है तालिबान जिसे धार्मिक शिक्षा लेने वालों के लिए इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन तालिबान ने इस्लाम धर्म के नाम पर पेशावर में जो कुछ किया है, वो आपके सामने है.

 

अब सवाल उठता है कि किस कातिल का दामन इन मासूमों के खून से रंगा है ?

 

सबसे पहले 1994 में चंद सुन्नी कट्टरपंथियों ने दक्षिण अफगानिस्तान में तालिबान संगठन की नींव रखी थी . जब 1996 में तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया था तब दुनिया के केवल तीन देशों पाकिस्तान, सऊदी अरब और संयुक्त अरीब ने उसके शासन को मान्यता दी थी . बाद में साल 2007 में तहरीक-ए-तालिबान की पाकिस्तान में नींव पडी .

 

तब से लेकर आजतक यही माना जाता रहा है कि तालिबान को पैदा करने से लेकर उसको पालने पोसने तक में पाकिस्तानी सरकार और सेना का हाथ रहा है लेकिन अब नवाज शरीफ कह रहे हैं कि वो अफगानिस्तान के साथ मिलकर तालिबान का नामो निशां मिटा देंगे .

 

पेशावर में आयोजित इस सर्वदलीय बैठक में फांसी की सजा पर से रोक हटाने का भी फैसला हुआ ताकि आतंकियों के खिलाफ कारगर कार्रवाई हो सके.

 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: daud ibrahim
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: daud ibrahim peshawar
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017