वैज्ञानिकों की चेतवानी, आने वाले हफ्तों, महीनों में हो सकता है नेपाल में भूस्खलन

By: | Last Updated: Wednesday, 29 April 2015 1:55 PM
Earthquake: Nepal at high risk of landslides in coming weeks

प्रतीकात्मक तस्वीर

काठमांड: नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप के बाद आफत कम नहीं हो रही है. वैज्ञानिकों ने चेताया कि आने वाले हफ्तों में नेपाल में बड़े स्तर पर भूस्खलन हो सकता है.

वैज्ञानिकों ने ये भी चेताया कि ये खतरा आने वाले मॉनसून की बारिश के दौरान और ज्यादा बढ़ जाएगा.

 

यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन के वैज्ञानिकों की रिसर्च के मुताबिक भूस्खलन का ये खतरा सबसे ज्यादा माउंट एवरेस्ट के पश्चिमी और काठमांडू के उत्तरी पहाड़ी इलाके नेपाल-तिब्बत सीमा पर है.

 

नेपाल में शनिवार को 7.9 तीव्रता के आए भूकंप के बाद भूस्खलन के इन खतरों का आकलन भू-आकृति वैज्ञानिक मरीन क्लार्क और उनके दो साथियों ने किया है.

 

क्लार्क ने उन इलाकों का आकलन किया है जहां भूकंप के दौरान भूस्खलन के खतरे ज्यादा हैं. साथ भी ये बताया है कि आने वाले चंद हफ्तों और महीनों में किन-किन इलाकों में भूस्खलन का खतरा बहुत ज्यादा है.
 

इस आकलन में नेपाल में ऐसे हज़ारों इलाकों का चयन किया गया है जहां भूस्खलन का खतरा बहुत ज्यादा है.

 

क्लार्क ने कहा, “हम जो आशंका जता रहे हैं, वैसा भूस्खलन शनिवार के भूकंप के साथ ही हो चुका है. लेकिन अभी भी कई ढाल हैं, जो नहीं ढहे हैं, लेकिन काफी कमज़ोर हो चुके हैं. इसलिए भूस्खलन का खतरा है. आने वाले बारिश में ये खरता और बढ़ गया है.”

 

आपको बता दें कि इससे पहले वैज्ञानिकों ने आकलन किया है कि इस जलजले से काठमांडू का भूगोल बदलकर रह गया है. काठमांडू शहर की नीचे से ज़मीन तीन मीटर दक्षिण की ओर खिसक गई है. हालांकि, माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई पर कोई फर्क नहीं पड़ा है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Earthquake: Nepal at high risk of landslides in coming weeks
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017