आत्महत्या के लिए उकसा सकती है हर क्षेत्र में एक्सपर्ट बनने की चाह

By: | Last Updated: Friday, 26 September 2014 3:31 PM

न्यूयार्क: हर क्षेत्र में निपुणता की चाह रखना वैसे तो गलत नहीं है, लेकिन यह चाहत कई बार इतनी बुरी हो जाती है कि आत्महत्या तक के लिए उकसा सकती है. ऐसी स्थिति तब होती है जब यह चाहत पूरी नहीं होती.

 

एक नए शोध के मुताबिक, यदि आप हर क्षेत्र में निपुणता की चाह रखते हैं और वह पूरी नहीं होती तो इससे न केवल आपका दिल टूटता है, बल्कि आप आत्महत्या तक करने का सोच सकते हैं. चिकित्सक, वकील, शिल्पकार सहित विशिष्ट पेशे वालों और नेतृत्वकारी की भूमिका निभानेवालों में यह खतरा अधिक होता है.

 

यॉर्क विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान के प्रोफेसर गॉर्डन फ्लेट के अनुसार, “निपुणता से खुदकुशी का खतरा उससे कहीं अधिक है, जितना हम सोचते हैं.”

 

शोध लेख में फ्लेट और सह-लेखक यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया के प्रोफेसर पॉल हेविट तथा वेस्टर्न यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर मार्निन हीसेल ने आत्महत्या से मरने वाले कुछ प्रमुख विशिष्ट पेशे वाले लोगों का जिक्र किया है.

 

लेखकों ने इसका जिक्र किया है कि किस प्रकार अक्सर उम्दा प्रदर्शन करने की मांग ऐसे विशिष्ट पेशे वाले लोगों को ऐसा नहीं कर पाने पर कई बार इस कदर निराश कर देती है कि वे आत्महत्या तक जैसा कदम उठा लेते हैं.

 

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, दुनियाभर में हर साल 10 लाख से अधिक लोग आत्महत्या कर लेते हैं. यह लेख ‘रिव्यू ऑफ जनरल साइकोलॉजी’ जर्नल में प्रकाशित हुआ है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: expert-suicide
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: suicide
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017