पहनावे की वजह से स्कूल से लौटाया!

By: | Last Updated: Friday, 10 April 2015 3:10 PM
Facebook_School_

नई दिल्ली: ऐसा माना जाता है अमेरिकन और यूरोपियन देशों के लोग सोच और विचारों में बेहद प्रगतिशील है. लेकिन आपको बता दें कि यह सिर्फ एक धारणा भर ही है.

 

अमेरिका में रहने वाली एरिका एलिस एग्रलि ने फेसबुक पर अपनी बहन की एक तस्वीर शेयर की है और लिखा है कि मेरी बहन को स्कूल से इसलिए घर वापस भेज दिया गया क्योंकि स्कूल का मानना है कि इस तरह के पहनावे से गलत संदेश जाएगा.

 

एरिका एलिस एग्रलि की छोटी बहन मैसी एग्रलि ‘लांग शर्ट’ और ‘लेगी’ पहन कर गईं थी जिस पर स्कूल को आपत्ति हुई और उन्होनें मैसी एग्रलि को वापस घर भेज दिया.

सवाल फिर वही है कि आखिर यह बार-बार क्यों कहा जाता है कि महिलाओं के कपड़े से लोग भड़क सकते हैं? क्या पुरूषों के पहनावे पर कभी लगाम लगाने की बात सामने नहीं आती या फिर उनके पहनावे से महिलाएं भड़कती हों?

 

यहां जरूरत है तो लोगों को अपनी सोच बदलने की, पहनावा बदलने से बलात्कार जैसे अपराध नहीं रूक सकते जबतक की समाज की कुंठित सोच और विकृत मानसिकता नहीं बदल जाती.

 

एरिका एलिस एग्रलि के फेसबुक पेज पर से इस पोस्ट को तकरीबन 94 हजार लोग शेयर कर चुके हैं जो सोशल मीडिया के ताकत को ब्यां करता है. इस तस्वीर के साथ हम आपके बीच यह भी शेयर कर रहें हैं कि एरिका एलिस एग्रलि ने अपने पेज पर क्या लिखा है.

 

आप खुद पढ़कर आसानी से यह अंदाजा लगा सकते हैं कि हर समाज में बंदिशें महिलाओं पर ही लगाने की बात की जाती है. जरूरत है तो सिर्फ सोच बदलने की. पहनावे पर सेंसरिंग बंद हो जाए और पुरूष प्रधान सोच को जड़ से खत्म किया जाए तभी महिलाओं को बेखौफ आजादी मिलेगी.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Facebook_School_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Facebook school
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017