कल से शुरू होगी हज यात्रा

By: | Last Updated: Wednesday, 1 October 2014 12:50 PM

मक्का: एक लाख 36 हजार भारतीय श्रद्धालुओं समेत दुनिया भर से आए 20 लाख से ज्यादा मुसलमान कल मिना की वादी में जमा होंगे और इसके साथ ही हज की शुरूआत हो जाएगी जबकि सउदी अधिकारियों ने कहा है कि हज की तमाम तैयारियां मुकम्मल हो गई हैं.

 

मक्का के गवर्नर एवं केन्द्रीय हज समिति के अध्यक्ष शहजादा मिशाल बिन अब्दुल्ला ने बताया कि हज कल से शुरू होगी और इसके लिए तमाम तैयारियां मुकम्मल हो गई हैं.

 

शहजादा मिशाल ने सुरक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे उन लोगों को मकद्दस मुकामों में दाखिल होने की इजाजत नहीं दें जिनके पास हज परमिट नहीं है और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करें.

 

सउदी अरब ने हजयात्रियों की सुरक्षा के लिए मक्का, मदीना और अन्य मकद्दस शहरों में 70 हजार से ज्यादा अधिकारियों को तैनात किया है.

 

बांग्लादेश के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हामिद, सूडान के राष्ट्रपति उमर बशीर, सोमालिया के राष्ट्रपति हसन शेख महमूद और मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन हज के लिए आए हुए हैं.

 

हज यात्री आज देर रात या तड़के मिना जाने का सिलसिला शुरू करेंगे. इस बीच, लाखों मुसलमानों ने मक्का में काबा शरीफ का तवाफ जारी रखा.

 

हज के पहले चरण में 20 लाख से ज्यादा हजयात्री मिना में खेमों में रात गुजारेंगे. इस तरह, मिना खेमों का एक शहर बन जाएगा. हजयात्री इबादत करेंगे. वह नमाज पढ़ेंगे या कुरान के आयात पढ़ेंगे. इस साल हज में एक लाख 36 हजार भारतीय हजयात्री हैं. वे जत्थों में मिना का अपना सफर शुरू करेंगे.

 

हज यात्री अकीदत से सराबोर हैं. ढेर सारे लोगों के लिए हज का यह पहला मौका होगा. लिहाजा, कई के पुरनूर चेहरे आंसुओं से तर हैं तो कई इस यादगार मौके का एक एक पल सहेजने की कोशिश कर रहे हैं.

 

अजीजिया में एक भारतीय हजयात्री मोहम्मद शाहिद ने पीटीआई को बताया, ‘‘भारतीय हज मिशन और सउदी सरकार के इंतजाम बहुत अच्छे हैं. हमारी तमाम जरूरतों का ख्याल रखा जा रहा है और हमें कोई दिक्कत आती है तो उसे दूर किया जाता है.’’ बांग्लादेश से हज करने आए वहां के सूचना मंत्रालय के संयुक्त सचिव मोहम्मद नासिर उद्दीन अहमद ने कहा कि वह पहली बार यहां आए हैं और बहुत उत्साहित हैं.

 

अहमद ने कहा, ‘‘मैं अपने वतन और समूचे मुस्लिम समुदाय के लिए दुआ मांगूंगा.’’ इस बीच, मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इस बार मक्का, मदीना और अन्य मकद्दस मुकामों पर मौसम का मिजाज ठीक रहेगा और तापमान 36 डिग्री सेल्सियस से नीचे होगा.

 

हज तीन अक्तूबर (जुमे) को अपनी बुलंदी पर पहुंचेगा जब 20 लाख से ज्यादा मुसलमान अराफात के मैदान में जमा होंगे. हज का यह सफर ईद-अल-अजहा के साथ मुकम्मल हो जाएगा.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: haj
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017