ग्रेट ब्रिटेन का हिस्सा कैसे बना था स्कॉटलैंड?

By: | Last Updated: Thursday, 18 September 2014 4:27 PM
how become Scotland?

नई दिल्ली : 300 साल बाद क्या ब्रिटेन से अलग हो जाएगा स्कॉटलैंड. इस सवाल का जवाब मिलने में कुछ ही घंटे बाकी रह गए हैं क्योंकि स्कॉटलैंड के करीब 42 लाख लोग इस बात का फैसला करने के लिए वोटिंग कर रहे हैं. लेकिन अब से 65 साल पहले ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री ने जो भारत के लिए कहा था वो यहां तो नहीं हुआ लेकिन उनके अपने ग्रेट ब्रिटेन में कुछ वैसा ही हो रहा है.

 

भारत ने ब्रिटिश हुकूमत से आजादी के लिए बहुत लंबी लड़ाई थी. ब्रिटिश हुकूमत भारत के आजादी के आंदोलन के आगे झुकने लगी थी. तब ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल भारत को आजादी देने के बारे में कहा था.

 

सत्ता आवारा, नीच और डकैतों के हाथों में चली जाएगी. भारत के सारे नेता बेहद कम क्षमता वाले कूड़ा करकट लोग होंगे. वो सत्ता के लिए आपस में लड़ेंगे और भारत राजनीतिक झगड़े में खो जाएगा. एक दिन ऐसा आएगा जब भारत में हवा और पानी पर भी टैक्स लगेगा.

 

करीब 65 साल पहले भारत के बारे में ब्रिटेन के पूर्व पीएम का दिया ये बयान सच साबित नहीं हुआ. आजादी के बाद भारत से गोवा, सिक्किम और पुडुचेरी जुड़े और अखंड भारत का हिस्सा बने लेकिन 65 साल बाद चर्चिल के ग्रेट ब्रिटेन में क्या हो रहा है.

 

300 सालों से ब्रिटेन का हिस्सा बना स्कॉटलैंड अपनी आजादी के लिए वोटिंग कर रहा है. करीब 42 लाख से ज्यादा स्कॉटलैंड के नागरिक इस बात का फैसला लेने के लिए वोटिंग कर रहे हैं कि स्कॉटलैंड ब्रिटेन का हिस्सा बना रहेगा या फिर नहीं. लेकिन फैसले की चाबी उन डेढ़ लाख लोगों के हाथ में है जिन्होंने अब तक फैसला नहीं किया था कि वो क्या करेंगे. इतना ही नहीं ऐसा पहली बार हो रहा है कि इस बार वोटिंग में 16 और 17 साल के युवाओं को भी शामिल किया गया है.

 

वोटिंग से पहले कई ओपिनयन पोल में हां और ना के बीच कड़ा मुकाबला दिख रहा है. ओपिनियन पोल में 52 फीसदी वोट स्कॉटलैंड के ब्रिटेन से अलग नहीं होने के पक्ष में जबकि 48 फीसदी वोट स्कॉटलैंड की आजादी यानि येस कैंपेन के पक्ष में बताए गए हैं. पूरा स्कॉटलैंड यस और नो के रंग में रंग गया है. यूके सरकार ने स्कॉटलैंड को ब्रिटेन का हिस्सा बनाए रखने के लिए बहुत सारे वादे भी किए हैं.

 

डेविड कैमरून ने कहा है कि राष्ट्रवादी चाहते हैं कि पेंशन, स्वास्थ्य और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए दी जाने वाली सरकारी मदद बंद कर दी जाए. स्कॉटलैंड के लोगो के लिए वोट देने से पहले ये जानना जरूरी है. स्कॉटलैंड में आजादी के इस पूरे कैंपेन का चेहरा हैं नेशनल स्कॉटिश पार्टी के नेता और स्कॉटलैंड के पहले मंत्री एलेक्स सेल्मंड (Alex Salmond). एलेक्स पूरे स्कॉटलैंड में ‘येस कैंपेन’ चला रहे हैं. एलेक्स स्कॉटलैंड की आजादी के सबसे पहले समर्थकों में से एक हैं.

 

 

ग्रेट ब्रिटेन का हिस्सा कैसे बना था स्कॉटलैंड?

 

दुनिया के सबसे पुराने देशों में से एक है स्कॉटलैंड. स्कॉटलैंड की आबादी करीब 50 लाख के आसपास है. ग्रेट ब्रिटेन का हिस्सा बनने से पहले करीब 800 साल से भी ज्यादा वक्त तक स्कॉटलैंड एक आजाद देश था.

 

18 वीं शताब्दी की शुरुआत में जब इंग्लैंड और फ्रांस के बीच युद्ध चल रहा तब इंग्लैंड को इस बात का डर सताने लगा कि स्कॉटलैंड कहीं उसके दुश्मन के साथ ना मिल जाए. इस डर की वजह से इंग्लैंड ने स्कॉटलैंड का व्यापार रोक दिया और ये रोक तब तक लगी रहे जब तक कि स्कॉटलैंड एक देश की तरह इंग्लैंड के साथ रहने के लिए राजी नहीं हो गया.

 

1 मई 1707 को स्कॉटलैंड और इंग्लैंड की संसद भंग हो गई और एक नई ब्रिटिश संसद की नींव रखी गई. यूनाइटेड किंगडम में इंग्लैंड .. स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड के अलावा कई छोटे आइलैंड शामिल हैं. इंग्लैंड, वेल्स और स्कॉटलैंड से मिलकर बना है ग्रेट ब्रिटेन.

 

 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: how become Scotland?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Scotland
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017