ANALYSIS: भारत के लिए ISIS कितना बड़ा खतरा है?

By: | Last Updated: Saturday, 14 November 2015 11:56 AM

नई दिल्ली: फ्रांस की राजधानी पेरिस में थियेटर, स्टेडियम और रेस्टोरेंट समेत छह जगहों पर आतंकी हमले हुए जिसमें 153 बेकसूरों की जान चली गई. इस हमले में पेरिस में रह रहे सभी भारतीयों तो सुरक्षित हैं. इससे पहले भारत में भी आईएस के छाप दिखे थे. सवाल उठ रहे हैं कि भारत के लिए आईएस कितना बड़ा खतरा है?

 

दिल्ली से साढ़े छह हजार किलोमीटर दूर पेरिस में हुए इस आंतकी हमले ने पूरी दुनिया को थर्रा दिया. भारत भी इससे अछूता नहीं है क्योंकि सात साल पहले मुंबई में 26/11 हमले की याद इसने ताजा कर दी. अब सवाल उठ रहे हैं कि पाकिस्तान की शह पर मुंबई में हुए हमले के बाद क्या आईएस भी ऐसे किसी हमले की साजिश रच सकता है?

 

IS के निशाने पर भारत भी ?

खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट पर 17 सितंबर को दर्ज मुकदमे की एक कॉपी जो बताती है कि IS अपने सहयोगी संगठन अंसार उत तावीद के साथ मिलकर दिल्ली समेत भारत के कई शहरों में आतंकी हमले कर सकता है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और जांच एजेंसी एनआईए ने जानकारी के आधार पर मुकदमा तो दर्ज कर लिया है लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

 

भारत में दिखे चुके हैं IS के निशान

पिछले साल गृह मंत्री राजनाथ सिंह भारतीय युवकों में आईएस को लेकर बढ़ रहे आकर्षण पर चिंता जता चुके हैं. आईएस में महाराष्ट्र के कल्याण के 4 लड़के शामिल हुए थे. इनमें अरीब मजीद नाम का एक युवक को एनआईए ने वापस आने पर गिरफ्तार कर लिया था. इसके अलावा हैदराबाद से सात भारतीय युवक कोलकाता के रास्ते सीरिया जा रहे थे. परिवार को शक हुआ तो उन्होंने एजेंसी को खबर की तब उन्हें भारत में ही रोक लिया.

 

हैदराबाद से IS के लिए भर्ती कराने वाली महिला गिरफ्तार

हैदराबाद में IS के लिए कथित तौर पर युवकों की ऑनलाइन भर्ती करने वाली संदिग्ध महिला अफशां जबीन को सितंबर में गिरफ्तार किया गया था. अफशां दुबई में रहकर IS के लिए ऑनलाइन भर्ती करती थी. IS से संबंध के आरोप में संयुक्त अरब अमीरात में पकड़ी गई अफशां को हैदराबाद भेजा गया था जहां पुलिस ने उसे एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार कर लिया.

 

बेंगलूरु से IS का ट्विटर हैंडल चलाने वाला गिरफ्तार

 

पिछले साल दिसंबर में ब्रिटेन के चैनल 4 के खुलासे के बाद मेहदी मसरूर बिस्वास नाम के शख्स को बेंगलुरू में गिरफ्तार किया गया था. मल्टीनेशनल कंपनी में काम करने वाला मेहदी बिस्वास मसरूर आईएसआईएस के ट्विटर हैंडल @shammiwitness को ऑपरेट कर रहा था. पुलिस के मुताबिक पश्चिम बंगाल का रहने वाला मेहदी ऐसे लोगों की मदद करता था जो आईएस से जुड़ना चाहते थे.

 

IS की तरफ आकर्षित हो रहे युवाओं से लेकर उन्हें बहलाने-फुसलाने वालों की निशानदेही कई बार हुई है. ऐसे में जो घटनाएं देश से बाहर हो रही हैं वो ही खतरा भारत पर भी बना हुआ है.

 

यह भी पढ़ें :

पेरिस में सभी भारतीय सुरक्षित, हेल्पलाइन जारी

दुनिया भर में खूंखार पंजे फैला रहा है आईएसआईएस 

क्या चाहता है आईएसआईएस, कौन है बगदादी ? 

पीएम मोदी ने की हमले कि निंदा, फ्रांस के साथ दुनिया

भारत के राष्ट्रपति-पीएम ने की हमले की निंदा, फ्रांस के साथ दुनिया

 

 

 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: how danger isis for india?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017