भारत ई-कचरा पैदा करने वाला 5वां सबसे बड़ा देश: संयुक्त राष्ट्र

By: | Last Updated: Sunday, 19 April 2015 1:02 PM
India Fifth Biggest Generator of E-Waste in 2014: UN Report

संयुक्त राष्ट्र: भारत इलेक्ट्रानिक कचरा (ई कचरा) पैदा करने वाला दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा देश बनकर उभरा है. इसने 2014 में 17 लाख टन इलेक्ट्रानिक एवं इलेक्ट्रिकल उपकरण कचरे के रूप मे निकाले. संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है.

 

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में चेताया गया है कि अगले तीन साल में वैश्विक स्तर पर ई-कचरा 21 प्रतिशत तक बढ़ सकता है.

 

यूनाइटेड नेशंस युनिवर्सिटी (यूएनयू) द्वारा तैयार ‘ग्लोबल ई-वेस्ट मॉनीटर 2014’ में कहा गया है कि अमेरिका और चीन ने 2014 में सबसे अधिक ई-कचरा पैदा किया. ई-कचरा पैदा करने के मामले में अमेरिका पहले पायदान पर, चीन दूसरे, जापान तीसरे और जर्मनी चौथे पायदान पर रहा.

 

पिछले साल दुनिया में सबसे ज्यादा 1.6 करोड़ टन ई-कचरा एशिया में पैदा हुआ. इनमें चीन में 60 लाख टन, जापान में 22 लाख टन और भारत में 17 लाख टन ई-कचरा पैदा हुआ.

 

वहीं यूरोप में सबसे अधिक ई-कचरा करने वाले देशों में नार्वे पहले, स्विट्जरलैंड दूसरे, आइसलैंड तीसरे, डेनमार्क चौथे और ब्रिटेन पांचवे पायदान पर रहा. वहीं सबसे कम19 लाख टन ई-कचरा अफ्रीका महाद्वीप में पैदा हुआ. रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में ई-कचरे की मात्रा 21 प्रतिशत तक बढ़कर 5 करोड़ टन पहुंचने की संभावना है.

 

पिछले साल पैदा हुए ई-कचरा में महज सात प्रतिशत मोबाइल फोन, कैलकुलेटर, पीसी, प्रिंटर और छोटे आईटी उपकरण रहे, वहीं करीब 60 प्रतिशत हिस्सा घरों एवं कारोबार में इस्तेमाल होने वाले बड़े और छोटे उपकरणों जैसे वैक्युम क्लीनर, टोस्टर्स, इलेक्ट्रिक शेवर्स, वीडियो कैमरा, वाशिंग मशीन, इलेक्ट्रिक स्टोव आदि का था.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: India Fifth Biggest Generator of E-Waste in 2014: UN Report
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Biggest E-Waste Fifth generator India UN report
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017