नेपाल में भूकंप पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए भारत, दुनिया

By: | Last Updated: Sunday, 26 April 2015 3:00 AM

पेरिस: नेपाल में आए भयावह भूकंप के बाद अंतरराष्ट्रीय सहायता समूहों ने सहायता का हाथ आगे बढ़ाया. इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ द रेडक्रॉस एंड रेड क्रीसेंट सोसायटीज के एशिया-प्रशांत क्षेत्र के निदेशक जगन चपगाईं ने कहा, ‘‘हमें अभी तक नुकसान का स्तर नहीं पता है, लेकिन यह 1934 के भूकंप के बाद सबसे जानलेवा और विनाशकारी भूकंप हो सकता है.’’

 

संगठन ने कहा कि वह भूकंप के केंद्र के आसपास के गांवों को लेकर बहुत चिंतित है. उन्होंने कहा, ‘‘भूस्खलन से सड़कें तबाह हो गयी हैं या ब्लॉक हो गयी हैं.’’ अन्य संगठनों ने भी तुरत फुरत सहायता के प्रयास शुरू कर दिये हैं. कुछ संगठनों के प्रतिनिधियों ने संचार सेवाओं को लेकर कठिनाई जताई है.

 

नेपाल के लिए आपदा मोचन टीम भेजेगा अमेरिका

 

अमेरिका विनाशकारी भूकंप से पीड़ित नेपाल के लिए आपदा मोचन टीम भेज रहा है और तात्कालिक जरूरतों से निपटने के लिए दस लाख अमेरिकी डॉलर की राशि मंजूर की है.

 

दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की सहायक विदेश मंत्री निशा देसाई बिस्वाल ने बताया कि अमेरिका विदेश आपदा सहायता (ओएफडीए) के यूएसएड के कार्यालय के माध्यम से नेपाल में भूकंप पीड़ितों की मदद के लिए काम कर रहा है.

 

अमेरिकी ओएफडीए के प्रमुख जेरेमी कोनीडीक ने बताया कि तात्कालिक जरूरतों को पूरा करने के लिए दस लाख अमेरिकी डॉलर की राशि मंजूर की गई है.

 

नेपाल को सहायता टीम भेजेगा इस्राइल

 

नेपाल में आए विनाशाकारी भूकंप में मदद के लिए इस्राइल एक दल रवाना कर रहा है. नेपाल में भूकंप से 15,00 से अधिक लोगों की मौत हो गयी है.

 

इस्रारइली सेना के एक बयान में कहा गया है कि ‘‘चिकित्सा, तलाश और बचाव, साजो सामान और जन सहायक पेशेवरों’’ का दल आधी रात को उड़ान भरेगा.

 

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कार्यालय से जारी एक बयान में बताया गया है कि विशेष दल प्रभावित क्षेत्रों के पास उतरेगा.

 

फ्रांस नेपाल को सभी प्रकार की मदद को तैयार

 

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने शनिवार को कहा कि विनाशकारी भूकंप को देखते हुए नेपाल के किसी भी आग्रह पर फ्रांस मदद करने को तैयार है. इस भूकंप में 1,500 से अधिक लोग मारे गए हैं.

 

उनके इलीसी कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया, ‘‘ओलांद ने नेपाल की सरकार और लोगों के प्रति फ्रांस की एकजुटता व्यक्त की है.’’

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: international community comes to the rescue of earthquake ravaged nepal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017