भारत के आईएसआईएस के खिलाफ वैश्विक गठजोड़ में शामिल होने की संभावना नहीं

By: | Last Updated: Saturday, 27 September 2014 3:13 PM

न्यूयॉर्क: इराक में अपने 40 नागरिकों के बंधक होने की पृष्ठिभूमि में चरपमंथी संगठन आईएसआईएस के खिलाफ अमेरिका के नेतृत्व वाले वैश्विक गठजोड़ में भारत के शामिल होने की संभावना नहीं है, हालांकि माना जा रहा है कि राष्ट्रपति बराक ओबामा इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सहयोग मांग सकते हैं.

 

इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवांत (आईएसआईएल) के खिलाफ अमेरिका के नेतृत्व वाले वैश्विक गठजोड़ में अब तक 40 से अधिक देश शामिल हो चुके हैं. इस संगठन को आईएसआईएस अथवा आईएस के नाम से भी जाना जाता है.

 

सूत्रों के अनुसार भारत इस आतंकवादी समूह के खिलाफ खुलकर आगे नहीं आ पाएगा. सीरिया और इराक के कई हिस्सों में आईएस के आतंकवादियों ने नियंत्रण स्थापित कर कर लिया है. इराक में इसके कब्जे वाले क्षेत्र में कई भारतीय नागरिक अब भी बंधक बने हुए हैं.

 

सूत्रों ने कहा, ‘‘आतंकवाद की समस्या के खिलाफ हमारी स्थिति सर्वविदित है. परंतु हमारे 40 नागरिक अब भी बंधक हैं.’’

 

भारत आईएस के नियंत्रण वाले क्षेत्र से अपनी 46 नर्सों को मुक्त कराने में सफल रहा, लेकिन वहां अब भी 40 दूसरे भारतीय नागरिक भी बंधक हैं. वे मोसुल के निकट काम कर रहे थे और इसी साल जून में आईएस के चरमपंथियों ने उन्हें अगवा कर लिया था.

 

माना जा रहा है कि ओबामा वाशिंगटन में प्रधानमंत्री मोदी से बातचीत के दौरान आग्रह करेंगे कि भारत भी आईएस के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय गठजोड़ में शामिल हो. आईएस से क्षेत्र एवं विश्व की सुरक्षा को खतरे को देखते हुए राष्ट्रपति ओबामा वैश्विक नेताओं से इस संगठन के खिलाफ गठजोड़ में सहयोग की मांग कर रहे हैं.

 

व्हाइट हाउस ने ओबामा और मोदी के बीच 29 एवं 30 सितंबर को होने वाले बातचीत के ब्यौरे के बारे में कोई टिप्पणी करने से इंकार किया है.

 

व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की प्रवक्ता कैटलीन हेडेन ने कहा, ‘‘जैसा कि हमने कहा है कि हमारा मानना है कि सभी देशों के लिए भूमिका है. इससे आगे मैं इस दौरे की विषयवस्तु को लेकर कुछ कहने की स्थिति में नहीं हूं.’’

 

आईएस के आतंकवादियों ने हाल के दिनों में दो अमेरिकी पत्रकारों और ब्रिटेन के एक सहायताकर्मी का सिर कलम कर दिया. इन घटनाओं के बाद से ही पश्चिम जगत में इस आतंकवादी संगठन के खिलाफ गठजोड़ की बुनियाद पड़ी.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: iraq_isis_america_india
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: America India Iraq isis
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017