ISIS ने जॉर्डन के पायलट को जिंदा जलाया

By: | Last Updated: Wednesday, 4 February 2015 2:57 AM
isis burns jordanian pilot alive

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट यानि की ISIS ने जॉर्डन के बंधक पायलट मोएज़ अल कसासबेह को कथित तौर पर जिंदा जला दिया है. इस्लामिक स्टेट ने कसासबेह को जिंदा जलाने का वीडियो इंटरनेट पर रिलीज किया है. वीडियो में आतंकवादियों ने मोएज अल कसासबेह को लोहे के पिंजरे में बंद किया हुआ है. और चारों तरफ से आग लगा दी है.

 

इस्लामिक स्टेट ने इस वीडियो को सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर के जरिए पोस्ट किया है. SITE नाम के ट्विटर अकाउंट से ही इस्लामिक स्टेट अपनी गतिविधियों का प्रचार प्रसार करता है. मोएज अल कसासबेह को इस्लामिक स्टेट ने पिछले साल दिसंबर में उस वक्त बंधक बनाया था जब उसका विमान सीरिया में रक़्क़ा के पास उड़ रहा था.

 

ये विमान अमरीकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेनाओं की मदद के लिए जा रहा था. वहीं जॉर्डन के सरकारी टीवी चैनल ने दावा किया है कि पायलट मोएज़ अल कसासबेह को इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने एक महीने पहले ही मार दिया था. जॉर्डन के पायलट को जिंदा जलाने पर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि ये इस्लामिक स्टेट की क्रूरता को दिखाता है.

 

कुछ दिनों पहले ही इस्लामिक स्टेट ने जापानी पत्रकार केंजी गोटो का भी सिर कलम करने का वीडियो जारी किया था. इराक और सीरिया में सक्रिया इस संगठन ने अबतक कई पत्रकारों और विदेशी नागरिकों का सिर कलम कर वीडियो जारी कर चुका है.

 

जार्डन के पत्रकार की हत्या निंदनीय : बान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून ने जार्डन के पायलट की हत्या की निंदा की है. उन्होंने कहा कि आतंकवादियों की नजर में मानवीय जीवन का कोई मूल्य नहीं है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, मीडिया को जारी बयान में बान ने कहा कि उन्हें मोआज अल-कासाबेह की हत्या पर उनके परिवार और चाहने वालों की तरह ही दुख का अहसास हो रहा है और वह जार्डन की जनता की तरह ही इस आहत कर देने वाली घटना की निंदा करते हैं.

 

बान ने विश्वभर के देशों से मानवाधिकार के दायित्व् का पालन करते हुए आतंकवाद और चरमपंथ के खिलाफ प्रयासों को तेज करने का आह्वान किया. अल-कासाबेह को दिसंबर में उसके विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के बाद बंधक बना लिया गया था. इसके बाद से वह इस्लामिक स्टेट का मुख्य मोहरा बन गया था. जार्डन सरकार ने अल-कासाबेह और जापानी पत्रकार केन्जी गोतो की रिहाई के लिए इस्लामिक स्टेट के साथ कैदियों की अदला-बदली की व्यवस्था करने की तत्परता दिखाई थी.

 

लेकिन इसकी आखिरी अवधि 29 जनवरी को समाप्त हो गई, क्योंकि जार्डन ने अल-कासाबेह के जिंदा होने का सबूत मांगा था. अल-कासाबेह की हत्या इस्लामिक स्टेट द्वारा जापानी पत्रकार का सिर कलम कर देने के कुछ दिन बाद ही हुई है.

 

 

 

संबंधित ख़बरें-

जापानी बंधक का सिर कलम करने वाली वीडियो से थर्राया जापान

अमेरिकी हमले में मारा गया आईएसआईएस का रासायनिक हथियार विशेषज्ञ

ISIS में शामिल होने का मन बनाया, लेकिन तुर्की से लौट आई हैदराबाद की युवती

आईएस ने सद्दाम के 9 महलों को उड़ाया

व्हाइट हाउस में घुसकर ओबामा का सिर कलम कर देंगे: ISIS

वीडियो में एक बंधक की हत्या के दावे से जापान स्तब्ध

भारतीय एजेंसियों ने ट्विटर को लिखा: आईएस का पता बताने को कहा

जापान ने बंधक संकट पर अमेरिका, फ्रांस से मदद मांगी

हैदराबाद: IS से जुड़ा संदिग्ध गिरफ्तार

इस्लामिक स्टेट ने पतलून पहनने पर बंधक बनाया

ISIS के नाम से टॉयलट में मिली मुंबई एयरपोर्ट को उडाने की धमकी 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: isis burns jordanian pilot alive
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: alive burn isis jordanian pilot
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017