पांच घंटे के संघर्ष विराम के बाद इजरायल ने गाजा पर फिर हमले शुरू कर दिए

By: | Last Updated: Friday, 18 July 2014 2:19 AM

नई दिल्ली: पांच घंटे का संघर्ष विराम खत्म होने के बाद इजरायली जंगी विमानों ने कल रात गाजा पर फिर से बमबारी शुरू कर दी. लगभग 234 फलस्तीनियों की जान ले चुके 10 दिनों से चले आ रहे इस संघर्ष को खत्म करने के लिए जारी कूटनीतिक प्रयासों के बावजूद हमास ने भी रॉकेट से हमले किए. संयुक्त राष्ट्र के अनुरोध पर मानवीय कारणों से पांच घंटे का संघर्ष विराम हुआ पर यह अवधि खत्म होते ही हमले फिर से शुरू हो गए.

 

गाजा शहर के बीचों-बीच हुए इजरायली हवाई हमले में चार बच्चे मारे गए. एक अन्य हवाई हमले में दो फलस्तीनी जख्मी हुए.

 

इजरायली रक्षा बलों ने कहा कि संघर्ष विराम के दौरान गाजा से कम से कम तीन मोर्टार के गोले दागे गए. इजरायली सेना ने कहा कि दक्षिणी गाजा के पास एक ‘‘अभियान संबंधी गतिविधि’’ के दौरान हुए विस्फोट में एक सैनिक जख्मी हो गया.

 

इन घटनाओं के बावजूद संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने कहा कि दोनों पक्षों ने संघर्ष विराम का ‘‘अधिकांशत:’’ पालन किया.

 

पश्चिम एशिया शांति प्रक्रिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष समन्वयक रॉबर्ट सेरी ने इजरायल से मानवीय आधार पर संघर्ष विराम के लिए कहा था. उनकी ओर से यह अपील गाजा के समुद्री तट पर इजरायल हमले में चार फलस्तीनी बच्चों के मारे जाने के बाद की गई.

 

दोनों पक्ष संघर्ष विराम पर सहमत हुए ताकि फलस्तीनी नागरिक अपने लिए खाना, पानी और जरूरत के अन्य सामान इकट्ठा कर सकें. पांच घंटे के संघर्ष विराम के दौरान दक्षिणी इजरायल में कुछ देर के लिए हवाई हमले के संकेत देने वाले सायरन बंद कर दिए गए जिससे लोगों को लगा कि संघर्ष विराम हुआ है.

 

इजरायल और हमास के संघर्ष विराम पर सहमत होने के बाद फलस्तीनी लोग दुकानों और बैंकों में गए.

 

हमास के प्रवक्ता समी अबू हूरी ने कहा, ‘‘प्रतिरोध से जुड़े समूहों ने संयुक्त राष्ट्र की ओर से मानवीय जरूरतों के लिए किए गए शांति के आग्रह पर सहमति जताई है . शांति गुरूवार को स्थानीय समयानुसार सुबह 10 बजे से लेकर दिन में तीन बजे तक रहेगी.’’ इजरायली रक्षा बल ने एक बयान में कहा,‘‘अगर मानवीय आधार का दुरूपयोग हमास अथवा दूसरे आतंकी समूहों की ओर से इजरायली नागरिकों अथवा सेना पर हमले के मकसद से किया गया तो आईडीएफ इसका सख्ती और निर्णायक ढंग से जवाब देगी.’’ इजरायल और हमास के बीच संघर्ष को स्थायी तौर पर रोकने के लिए किया जा रहा प्रयास उस वक्त बाधित हो गया था जब इजरायल ने हवाई हमले फिर शुरू कर दिए. मिस्र की मध्यस्थता में संघर्ष विराम की संभावना के बीच इजरायल ने छह घंटे तक कार्रवाई को रोके रखा, जबकि हमास नेताओं ने इस प्रस्तावित समझौते को खारिज कर दिया.

 

हमास नेताओं का कहना है कि संघर्ष विराम के इस प्रस्ताव के बारे में उनसे नहीं पूछा गया और उन्होंने शिकायत की कि इस समझौते में गाजा के 18 लाख निवासियों के लिए व्यापक आजादी से जुड़ी उनकी मांगों को शामिल नहीं किया गया है. फिलिस्तीनी स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, पिछले सात जुलाई से इजरायल द्वारा हमास के खिलाफ शुरू किए गए सैन्य अभियान के बाद से अब तक कम से कम 234 फलस्तीनी मारे जा चुके हैं जबकि करीब 1700 लोग जख्मी हुए हैं. इजरायल की तरफ अब तक एक व्यक्ति मारा गया है. बीते सोमवार को एरेज सीमा क्रासिंग पर मोर्टार हमले में इस व्यक्ति की मौत हो गई थी.

 

आज अस्थायी संघर्ष विराम की घोषणा से पहले इजरायली टैंकों ने गाजा के राफा शहर में तीन लोगों को मार गिराया. रात भर में सात लोगों को मार गिराए जाने के बाद ये मौतें हुई हैं. इस बीच, इजरायल के विदेश मंत्री एविगडोर लाइबरमैन और हमास ने इजरायल और फलस्तीनी आतंकवादियों के बीच गाजा में चल रहे संघर्ष को खत्म करने के लिए संघर्ष विराम समझौते की पहले की खबरों को नकार दिया.

 

लाइबरमैन ने कहा कि ‘‘ऐसी खबरें अब तक गलत’’ हैं और गाजा को नियंत्रण में रखने वाले हमास ने कहा कि मिस्र में बातचीत जारी है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ISRAEL_GAZA
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017