पाकिस्तान ने भारतीय फायरिंग की शिकायत संयुक्त राष्ट्र से की, कश्मीर पर हस्तक्षेप के लिए कहा

By: | Last Updated: Sunday, 12 October 2014 9:05 AM
kashmir

इस्लामाबाद: कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की अपनी कोशिश तेज करते हुए पाकिस्तान ने भारत से लगे एलओसी के करीब की सुरक्षा स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र प्रमुख को पत्र लिखा है और मुद्दे के समाधान के लिए उसके हस्तक्षेप की मांग की है.

 

राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश मामलों पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज ने संयुक्त राष्ट्र प्रमुख बान की मून को लिखे एक पत्र में भारत पर जानबूझकर और बिना किसी उकसावे के पिछले एक सप्ताह से संघषर्विराम का उल्लंघन करने और सीमा पार से गोलीबारी करने का आरोप लगाया है.

 

अजीज द्वारा लिखे गए पत्र को पाकिस्तान के विदेश विभाग ने आज जारी किया. इसमें कहा गया है ‘मैं तत्काल आपका ध्यान पाकिस्तान और भारत के बीच अंतरराष्ट्रीय सीमा के करीब और इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के करीब सुरक्षा की लगातार गिरती हुयी स्थिति की ओर दिलाना चाहता हूं.’

 

पत्र में लिखा गया है, ‘जैसा कि आप अवगत हैं जम्मू कश्मीर विवाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का एक लंबित मुद्दा रहा है, जिसका प्रस्ताव जम्मू कश्मीर के लोगों के आत्मनिर्णय के लिए संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में जनमत संग्रह कराने का वादा करता है और यह अभी भी वैध है क्योंकि आज तक यह लागू नहीं हुआ है.’

 

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान क्षेत्र में टिकाउ शांति और सुरक्षा के हित में संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को दशकों से इस बात की याद दिलाता रहा है.

 

पिछले महीने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किये जाने का हवाला देते हुए अजीज ने कहा, ‘दुर्भाग्यवश भारत ने ऐसी नीति लागू की है जो पाकिस्तान के साथ गंभीर द्विपक्षीय वार्ता में हिस्सेदारी की भारत की तरफ से उल्लेख की गयी आकांक्षा के विपरीत है.’

 

नवाज ने अपने संबोधन में जम्मू कश्मीर के समस्त मुद्दे के समाधान की जरूरत पर जोर दिया था. उन्होंने कहा, ‘भारत ने 25 अगस्त 2014 को प्रस्तावित विदेश सचिव स्तरीय वार्ता बिना कोई उचित कारण बताए मनमाने तरीके से रद्द कर दी .’

 

बान से पत्र को सुरक्षा परिषद के एक आधिकारिक दस्तावेज की तरह प्रसारित करने के लिए कहते हुए अजीज ने कहा कि पाकिस्तान का मानना है कि कश्मीर मुद्दे के शांतिपूर्ण समाधान के लक्ष्य को बढ़ावा देने में संयुक्त राष्ट्र की महत्वपूर्ण भूमिका है.

 

अजीज ने आरोप लगाया कि भारत ने एलओसी के करीब हालात खराब किए हैं और दावा किया कि लगातार गोले दागे जाने ओैर गोलीबारी से पाकिस्तान की तरफ आम नागरिक हताहत हुए हैं.

 

पत्र में लिखा है, ‘1-10 अक्तूबर के दौरान एलओसी के करीब संघषर्विराम उल्लंघन की 20 और अंतरराष्ट्रीय सीमा के करीब 22 घटनाएं हुयी जिसमें पाकिस्तान की तरफ 12 लोग मारे गए, 52 लोग घायल हुए और नौ सैन्यकर्मी घायल हुए.’

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kashmir
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017