'जिहाद का विरोध हो तो महिलाओं और बच्चों को मार डालो'

By: | Last Updated: Monday, 1 December 2014 2:02 AM

लंदन: ब्रिटिश सैनिक ली रिग्बी के हत्यारे और कट्टरपंथी इस्लामिक उपदेशक ने जिहाद का विरोध करने वाली महिलाओं और बच्चों की हत्या को जायज बताया है. यह बात मीडिया रिपोर्टों से पता चली है.

 

डेली मेल ने रविवार को जारी एक रिपोर्ट में बताया कि सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर अपने एक संदेश में उपदेशक ओमर बाकरी मुहम्मद उर्फ टोटेनहन अयातुल्लाह ने कहा कि कभी-कभी स्कूलों और अस्पतालों में पनाह लेने वाले बच्चों और महिलाओं को मारना जरूरी होता है.

 

द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के हवाले से डेली मेल ने बताया कि बाकरी ने लिखा कि भले ही आम तौर पर इसकी अनुमति न हो, लेकिन हमें महिलाओं और बच्चों की हत्या और मुजाहिदीनों की काफिरों (नास्तिक) से लड़ाई के अंतर को समझना होगा. अब चाहे वह स्कूल में हो, अस्पताल में हो फिर किसी अन्य जगह पर.

 

उग्रवादी उपदेशक ने सीरिया और इराक में जिहादियों से लड़ने वालों की हत्या को भी जायज ठहराया है. उन्होंने कहा कि मुजाहिदीनों को ऐसे लोगों को जरूर मार देना चाहिए जो कट्टर इस्लाम में भरोसा नहीं रखते. फिर वे चाहे जहां भी मिले.

 

बाकरी पर ब्रिटेन में प्रतिबंध लगा है और लेबनान में उनके खिलाफ आतंकवाद का मुकदमा चल रहा है. वह खुले तौर पर फेसबुक का प्रयोग कर कट्टरपंथ को बढ़ावा दे रहा है. उस पर ब्रिटिश सैनिक ली रिग्बी की हत्या के साथ कई युवाओं को चरमपंथ के लिए भड़काने का भी आरोप है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kill-women-children
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP children kill Women
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017