मैक्सिको में सदी के सबसे बड़े भूकंप की वजह से कम से कम 40 लोगों की मौत

मैक्सिको में सदी के सबसे बड़े भूकंप की वजह से कम से कम 40 लोगों की मौत

By: | Updated: 09 Sep 2017 11:20 AM

जुचितान दे जारागोजा: मैक्सिको में आए सदी के सबसे शक्तिशाली भूकंप में कम से कम 40 लोगों की जान चली गई. 8.2 तीव्रता का यह भूकंप प्रशांत क्षेत्र के तटीय हिस्से में आया जिससे कई इमारतें धराशायी हो गईं और घबराए हुए लोग सड़कों पर आ गए.


मैक्सिको के राष्ट्रपति एनरिक पेना नीटो ने 8.2 की तीव्रता वाले भूकंप को देश में शताब्दी के सबसे बड़े ज़लज़लों में से एक बताया है.


Mexico Earthquake


मैक्सिको के कृषि सचिव जोस कालजाडे ने कहा कि ओक्साका प्रांत में 25 लोग मारे गए.


दक्षिणीपूर्वी प्रशांत तटीय राज्य ओक्साका और चियापास भूकंप से सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं जहां 17 लोगों को मलबे से बाहर निकाला गया है.


अधिकारियों का कहना है कि मरने वालों की संख्या और भी बढ़ सकती है.


टीवी न्यूज चैनल मिलेनियो को आपातकालीन आपदा एजेंसी के महानिदेशक ल्यूस फेलिप प्यूंटे ने बताया, “मकान ढहे हैं और उसके मलबे में लोग दबे हुए हैं.” मैक्सिको की भूकंप संबंधी सेवा ने कहा कि भूकंप दक्षिणी चियापास राज्य के तटीय शहर तोनाला से करीब 100 किलोमीटर दूर प्रशांत सागर के अपतटीय इलाके में तकरीबन रात 11 बजकर 49 मिनट पर आया.


अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण ने भूकंप की तीव्रता 8.1 बताई है जिसका केन्द्र जमीन से 69.7 किलोमीटर गहराई पर था . इतनी तीव्रता का भूकंप 1985 में आया था जिसमें मैक्सिको सिटी में 10,000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी. यह देश में आया सबसे तबाही मचाने वाला भूकंप था.


Mexico Earthquake


भूकंप इतना शक्तिशाली था कि उसने अपने केंद्र से करीब 800 किलोमीटर दूर उत्तर में स्थित मैक्सिको सिटी में भी घरों और इमारतों को हिला दिया और लोग बाहर भागने लगे. भूकंप के झटके देश के बड़े हिस्से में महसूस हुए.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest World News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पाकिस्तान: कटासराज मंदिर के अंदर से मूर्तियां गायब, SC ने मांगा जवाब