LIVE पेशावर: आर्मी स्कूल पर आतंकी हमले म 126 बच्चों की हत्या

By: | Last Updated: Tuesday, 16 December 2014 9:17 AM

पेशावर: पाकिस्तान के शहर पेशावर में तहरीक-ए-तालिबान के हमले में 126 बच्चों की हत्या कर दी गई है. तालिबान का कहना है कि उन्होंने ये हमला  बदला लेने के लिए किया है.

 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ सूरते हाल का जायज़ा लेने के लिए पेशावर के लिए रवाना हो गए हैं. शरीफ के साथ आर्मी चीफ राहील शरीफ भी पेशावर के लिए रवाना हो गए हैं.

 

# सेना और आंतकियों के बीच गोलीबारी

 

इस दर्दनाक और गैर इंसानी हमले पर तालिबान का कहना है कि उन्होंने स्कूल को निशाना बनाया है क्योंकि उनके परिवार पर हमला किया जाता है. वो चाहते हैं कि सेना भी उनके दर्द को महसूस करें.

 

जियो टीवी के संपादक हामिद मीर का कहना है कि मलाला को नोबेल शांति पुरस्कार दिए जाने के विरोध में ये हमला हुआ है.

 

पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हनीफ खालिद ने एबीपी न्यूज़ से कहा कि करीब 100 बच्चे जख्मी हैं और उनमें कई की हालत नाजुक बताई जा रही है. हनीफ खालिद के मुताबिक अभी भी स्कूल में 150 से 200 बच्चे बंधक हैं और फौज और बंदूकधारियों के बीच फायरिंग हो रही है.

 

पेशावर में भारतीय समय के मुताबिक सुबह करीब 11 बजे आतंकियों ने आर्मी स्कूल पर हमला किया है. चश्मदीदों के मुताबिक करीब छे सात आतंकी आर्मी स्कूल में घुसे और छात्रों को बंधक बना लिया.

 

दो महिला स्कूल टीचर और एक पाकिस्तानी सेना का जवान भी मारा गया है.  खबरों के मुताबिक एक आतंकी ने खुद को स्कूल के भीतर उड़ा लिया.

 

कई बच्चे अस्पताल में ज़िंदगी से जंग लड़ रहे हैं

 

जख्मी बच्चों को पेशावर  के लेडी रिडिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अनेक बच्चों की हालत नाजुक है. अस्पताल सूत्रों का कहना है कि मारे गए बच्चों की उम्र 9 से 14 साल के बीच है.

 

एक चश्मदीद का कहना है कि आतकंवादी स्कूल के एक-एक कमरे में दाखिल हो रहे थे और बच्चों को गोलियां मार रहे थे.

 

खबरों के मुताबिक अनेक  बच्चों को सही सलामत निकाला गया है.  लेकिन साफ नहीं है कि आतंकवादियों ने कितने बच्चों को बंधक बना रखा है. माना जाता है कि आज स्कूल में करीब 500 स्कूली बच्चे-बच्चियां और टीचर्स मौजूद थे.

 

रॉयटर्स के रिपोर्ट के मुताबिक बंदूकधारियों ने सैकड़ों बच्चों और टीचर्स को बंधक बना रखा है. रॉयटर्स के एक रिपोर्टर ने स्कूल के भीतर से भारी फायरिंग की आवाज़ें सुनी है.

 

तालिबान ने ली जिम्मेदारी

 

आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. तहरीक-ए-तालिबान के प्रवक्ता मोहम्मद खोरासानी ने न्यूज़ एजेंसी एएफपी को बताया है कि हमलावरों की संख्या छह है.

 

तालिबान ने बयान जारी कर कहा है, ‘हमने स्कूल को निशाना बनाया है क्योंकि हमारे परिवार पर हमला किया जाता है. हम चाहते हैं कि वे हमारे दर्द को महसूस करें.’

 

खोरासानी ने एएफपी से कहा, “बंदूकधारियों में फिदायीन हमलावर के साथ ही टार्गेट किलर हैं. उन्हें ये आदेश दिया गया है कि बड़ों को गोली मारें, लेकिन बच्चों को नहीं.”

 

स्कूल के करीब रहने वाली शगुफ्ता ने दुनिया टीवी को बताया कि स्कूल में अभी भी रुक-रुक कर फायरिंग हो रही है. अभी कुछ देर पहले धमाका हुआ है जिससे उनका घर दहल उठा.

 

पुलिस का कहना है कि अभी भी आतंकवादी और पुलिस के बीच झड़प हो रही है.

 

पुलिस का कहना है कि कम से कम छह से सात आतंकवादी दीवार छलांग कर स्कूल परिसर में घूसे और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी.

 

आतंकवादी हमले के बाद आर्मी स्कूल के आसपास भारी सुरक्षा व्यवस्था कर दी गई है. इलाके को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया है.

 

ये आर्मी स्कूल पेशावर के बिहारी कॉलोनी में स्थित है. ये पेशावर की सबसे बड़ी कॉलोनियों में से एक है.

 

पेशावर हमला: चश्मदीद ने बताया आंखों देखा हाल 

 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Militants attack army-run school in Pakistan’s Peshawar city, 104 dead
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017