मोबाइल से है कैंसर का खतरा!

By: | Last Updated: Sunday, 26 July 2015 3:37 PM
Mobile_

लंदन: मौजूदा समय की सबसे बड़ी जरूरत मोबाइल फोन के बारे में शंका की अटकलें पूरी तरह निराधार नहीं हैं. जिस मोबाइल फोन के बिना आज लोगों की जिंदगी की कल्पना करना मुश्किल है, वही मोबाइल फोन कैंसर जैसी घातक बीमारी का कारण भी बन सकता है.

 

हाल ही में हुए एक अध्ययन में यह बात सामने आई है. रिसर्च में पता चला है कि वायरलेस डिवाइस के रेडिएशन से उत्पन्न मेटाबॉलिक असंतुलन आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं. इससे कई न्यूरोडीजेनेरेटिव बीमारियां और कैंसर तक का खतरा हो सकता है.

 

इस असंतुलन को ऑक्सीडेटिव तनाव भी कह सकते हैं. रिसर्चर इसे रिएक्टिव ऑक्सीजन स्पेसीज (आरओएस) और एंटी-ऑक्सीडेंट के बीच असंतुलन कहते हैं.

 

रिसर्चर्स ने बताया कि वायरलेस डिवाइस से निकलने वाले खतरनाक रेडिएशन को जीवित कोशिकाओं में ऑक्सीडेटिव क्षति के क्लासिकल मैकेनिज्म से पहचाना जा सकता है.

यह रिसर्च जर्नल इलेक्ट्रोमैग्नेटिक बॉयोलॉजी एण्ड मेडिसिन में प्रकाशित हुआ है.

 

नेशनल युनिवर्सिटी फॉर फूड के रिसर्चर आइगर याकीमेंको ने कहा कि रेडियो फ्रिक्वेंसी रेडिएशन (आरएफआर) से होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव से न सिर्फ कैंसर बल्कि सिरदर्द, थकान और त्वचा में जलन जैसी छोटी-मोटी बीमारियों का भी खतरा हो सकता है.

 

आइगर ने कहा, “ये आंकड़े इस बात का साफ संकेत देते हैं कि इस तरह के रेडिएशन का मानव स्वास्थ्य पर कितना बुरा असर हो सकता है.

 

साल 2011 में कैंसर पर रिसर्च करने वाली एक अंतर्राष्ट्रीय एजेंसी ने भी कहा था कि आरएफआर मनुष्यों में कैंसर का संभावित कारण हो सकता है.

 

आइगर और उनकी टीम ने मोबाइल फोन और वायरलेस इंटरनेट जैसे वायरलेस उपकरणों के इस्तेमाल में एहतियात बरतने की सलाह दी है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Mobile_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Cancer MOBILE
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017