सफल रहा नासा का 'मिशन प्लूटो', अमेरिका ने रचा इतिहास

By: | Last Updated: Wednesday, 15 July 2015 11:06 AM

वाशिंगटन: नासा के न्यू होराइजन अंतरिक्षयान ने पहली बार प्लूटो के बिल्कुल नजदीक से गुजरकर तीन अरब मील दूर सांस थाम कर बैठे वैज्ञानिकों को अपनी ऐतिहासिक सफलता का संदेश भेजा. अंतरिक्षयान के पहली बार सफलतापूर्वक इस बौने ग्रह के इतने करीब पहुंचने के बाद वैज्ञानिकों की 21 घंटे की दुविधा भी खत्म हो गयी. नासा ने आज कहा कि न्यू होराइजन अंतरिक्षयान ने पहली बार प्लूटो पर पहुंचने की सूचना पृथ्वी को दी.

 

उड़ान के वास्तविक समय के 13 घंटे बाद मिशन के सफल होने की पुष्टि हुई. अंतरिक्षयान ने कल डाटा एकत्र करने के लिए बौने ग्रह की तरफ अपने एंटेना को घुमाने के बाद मिशन नियंत्रण केंद्र को सूचना देना बंद कर दिया था.

 

15 मिनट के रिकॉर्ड किये गये संदेश के प्राप्त होते ही इस ऐतिहासिक मिशन की सफलता की पुष्टि हो गयी और अब यह कुछ महत्वपूर्ण डाटा भेजने के लिए तैयार है जिसमें उच्च क्षमता की कुछ तस्वीरें भी शामिल हैं.

 

जैसे ही अंतरिक्षयान ने मिशन मुख्यालय से एक बार फिर संपर्क स्थापित किया ,न्यू होराइजन के उड़ान नियंत्रकों ने खुशी का इजहार करते हुए एक दूसरे को गले लगाया.

 

नासा के प्रशासक चार्ल्स बोल्डेन ने कहा ‘‘मैं यह जानता हूं कि हम लोगों ने इस सफलता से समूची नयी पीढ़ी के खोजकर्ताओं को प्रेरित किया है और हम और खोजों की प्रतीक्षा कर रहे हैं.’’ लगभग नौ साल और तीन अरब मील की यात्रा करने के बाद न्यू होराइजन प्लूटो की सतह से सिर्फ 12,500 किलोमीटर दूरी से होकर गुजरा.

 

नासा का यह अंतरिक्षयान बहुत डाटा एकत्र कर रहा है जिसे पृथ्वी पर भेजने में इसको 16 माह का समय लगेगा.

 

आपको बता दें कि इस कामयाबी के साथ ही अमेरिका दुनिया का ऐसा पहला देश बन गया है, जिसके अंतरिक्षयान सौरमंडल के सभी नौ ग्रहों का जायजा ले चुके हैं.

 

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017