नेपाल: कर्फ्यू और विरोध के बीच कल जारी होगा नेपाल का नया संविधान

By: | Last Updated: Saturday, 19 September 2015 4:21 PM

काठ्माण्डु: 8 सालों की प्रतीक्षा के बाद नेपाल में रविवार की शाम को नया संविधान जारी किया जा रहा है. काठ्माण्डु स्थित संसद भवन परिसर में विशेष समारोह के बीच नेपाल के राष्ट्रपति डा रामवरण यादव संविधान जारी करेंगे.

 

हालांकि इस संविधान का भारी विरोध हो रहा है. संविधान में नेपाल के मधेशी समुदाय का अधिकार कटौती किए जाने को लेकर पिछले एक महीने से आम हड़ताल जारी है. इस दौरान 40 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और सैकडों लोग घायल भी हुए. लेकिन सरकार सुनवाई के पक्ष में बिलकुल भी नहीं है.

 

नेपाल में नए संविधान का विरोध इतना हिंसक हो गया है कि भारत से लगे 14 जिलों में कर्फ्यू लगा कर सेना उतार दिया गया है. 6 जिलों को दंगाग्रस्त क्षेत्र घोषित कर दिया गया है. भारत से लगने वाले सभी जिलों में भय और आतंक का माहौल है.

 

हालात इतने बिगडे हैं कि सेना और पुलिस की डर से हजारों लोग बिहार और यूपी की सीमाओं में शरण लिए हुए है. इस समस्या से भारत काफी चिंतित है. नेपाल के बिगडते राजनीतिक हालात और हत्या हिंसा की बढते वारदात को भारत ने काफी गंभीरता से लिया है. नेपाल में मधेशी समुदाय को समेट कर आगे बढने और सहमति में ही संविधान लाने का संदेश देते हुए भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपना विशेष दूत भेजा था.

 

मोदी के विशेष दूत बनकर आए विदेश सचिव ने नेपाल के बडे नेताओं से मिल कर साफ संदेश दे दिया है कि हत्या, हिंसा विरोध, बन्द और कर्फ्यू के बीच आने वाले संविधान का भारत समर्थन नहीं करेगा.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Nepal new constitution
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: constitution Nepal
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017