नेपाल में नए संविधान के लिए मियाद खत्म, संसद स्थगित

By: | Last Updated: Friday, 23 January 2015 2:01 AM
Nepal Parl adjourned as deadline ends for new Constitution

काठमांडो: नेपाल के राजनीतिक दल तय मियाद के भीतर देश का नया संविधान तैयार नहीं कर पाए और संसद की कार्यवाही संविधान के मसौदे पर बिना सहमति बनाए भारी हंगामे के बीच स्थगित कर दी गयी.

 

संविधान सभा (संसद) के अध्यक्ष सुभाष नेमबंग ने संसद की कार्यवाही आज स्थानीय समयानुसार रात 11:45 बजे स्थगित कर दी. इससे पहले विपक्षी दलों ने कार्यवाही को ढाई घंटे तक बाधित रखा था. संसद की अगली बैठक कल दिन में एक बजे शुरू होने वाली है.

 

नए संविधान के लिए 22 जनवरी की मियाद रखी गई थी. कार्यवाही स्थगित किए जाने की घोषणा से पहले नेमबंग ने कहा कि उनकी इच्छा है कि संविधान का मसौदा तैयार करने की प्रक्रिया शुरू हो और उन्होंने नए संविधान को लागू करने पर सहमति बनाने के लिए सभी दलों का सहयोग मांगा इससे पहले विपक्षी दलों ने जमकर हंगामा किया.

 

यूसीपीएन (एम) के नेतृत्व वाला 19 पार्टियों का गठबंधन सोमवार से संविधान सभा की बैठक को बाधित कर रहा था. सीपीएन (एम) के अध्यक्ष प्रचंड, संविधान सभा के उपाध्यक्ष बाबूराम भट्टाराई और मधेसी पीपुल्स राइट्स फोरम नेपाल के अध्यक्ष उपेंद्र यादव समेत विपक्षी नेताओं ने सरकार विरोधी नारे लगाए और बैठक के शुरू होते ही आसन को घेर लिया.

 

ज्वांइट मधेसी फ्रंट और छोटे दलों के दूसरे सांसदों ने भी संविधान सभा की बैठक को बाधित करने में माओवादियों का साथ दिया और संविधान का मसौदा मतदान की बजाए आम सहमति से तैयार करने की मांग की.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Nepal Parl adjourned as deadline ends for new Constitution
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Nepal new Constitution
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017