काठमांडू में हजारों लोगों के सिर से छिन गई छत, खुले में बारिश औऱ ठंड से परेशान हैं लोग

By: | Last Updated: Monday, 27 April 2015 3:03 AM
nepal_earthquake

काठमांडू/नई दिल्ली: नेपाल में आज रात बारिश और भूकंप के बाद के ताजा झटकों से राहत कार्यों में अवरोध पैदा हो रहा है और बचावकर्मियों को इमारतों तथा घरों के टनों मलबे के नीचे से जीवित लोगों को निकालने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. भूकंप के बाद अब तक 3200 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं जिनमें पांच भारतीय हैं. 6,000 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

 

बिजली नहीं होने से नेपाल की राजधानी काठमांडो भुतहा शहर सी लग रही है जहां बारिश शुरू हो जाने से हवाईअड्डे को बंद करना पड़ा है. हवाईअड्डे पर बदहवासी के हालात देखे जा सकते हैं जहां फंसे हुए विदेशी पर्यटक अपने घर लौटने को व्याकुल हैं.

 

नेपाल में दोबारा भूकंप आने के डर और बारिश के बीच लोग जैसे-तैसे रात गुजार रहे हैं. खौफ के साये में जी रहे लोग खुले आसमान के नीचे ही अपने परिवार के साथ पड़े रहे और सलामती के लिए दुआ करते रहे.

 

भूकंप का दहशत देखिए कि नेपाल में बारिश के बीच लोग खुले आसमान के नीचे रात बिता रहे हैं. भूकंप से काठमांडू के लोग किस कदर सहमे हुए हैं इन तस्वीरों से अंदाजा लगाया जा सकता है. इन्हें डर है कि अगर ये घर गए और भूकंप आया तो ये जिंदा नहीं बचेंगे–डर और दहशत ने लोगों की मुश्किलें और बढ़ा दी है.

 

यहां ऐसे भी परिवार हैं जिनके साथ छोटे-छोटे बच्चे भी हैं और किसी तरह से बारिश से उन्हें बचाने की कोशिश की जा रही है.

 

ऐसा नहीं है कि खौफ और डर के साये में केवल यहीं के लोग हैं. ये बिहार से यहां काम करने आए थे लेकिन अब ये किसी भी कीमत पर अपने घर लौटना चाहते हैं.

 

इस बीच यहां के लोग रात में निगरानी भी कर रहे हैं ताकि भूकंप आने पर लोगों को बताया जा सके–साथ आपदा की इस घड़ी में शरारती लोगों पर नजर रखी जा सके.

 

नेपाल के दूसरे हिस्सों में भी ऐसे हालात हैं. लामझूम में लोग अपने घर के बाहर जरूरी सामान लेकर ठहरे हुए हैं. पूरा गांव खाली है. घरों में ताले लगे है.

 

इन्हें डर है कि कहीं ये अपनों घरों में सो रहे हों और मौत इन्हें अपना शिकार ना बना ले.

 

कुदरत ने इन्हें जो दर्द और तकलीफ दिया है उससे ये उबरने कोशिश तो कर रहे हैं लेकिन बार-बार भूकंप के झटके इनकी उम्मीदों पर पानी फेर दे रहे हैं.

 

नेपाली टाइम्स के संपादक कुंदा दीक्षित ने ट्वीट किया, ‘‘अब भी बारिश हो रही है जिससे विपदा और बढ़ेगी. केवल इतनी राहत हो सकती है कि कुछ शरणस्थलों पर पानी के संकट से निपटने में आसानी हो सकती है.’’ उन्होंने कहा कि नेपाल को तत्काल तंबू और दवाएं चाहिए होंगी.

 

इससे पहले भूकंप के जबर्दस्त झटके आज फिर आए जिससे लोगों में दहशत फैल गई. कल आए झटकों से माउंट एवरेस्ट पर हिमस्खलन हुआ. शनिवार को को माउंट एवरेस्ट पर हुए हिमस्खलन की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गई.

 

कल आए भूकंप के पहले झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.7 मापी गई जबकि दूसरे झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.5 रही. भूकंप के झटके आते ही लोग खुली जगहों की ओर दौड़ते देखे गये.

 

शनिवार को 7.9 की तीव्रता से आए भूकंप ने भारी तबाही मचाई और विपदा का वो भयानक मंजर छोड़ गया है जिससे पार पाने में तमाम मुश्किलें सामने आएंगी. लोगों ने फिर से झटके आने की आशंका के मद्देनजर सर्द रात खुले में बिताईं.

 

काठमांडो स्थित नेशनल इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर के पास उपलब्ध ताजा आंकड़ों के मुताबिक नेपाल में मृतकों की संख्या 2,430 पहुंच गयी है और 6,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं. अकेले काठमांडो घाटी में 1,053 लोगों के मारे जाने की खबर है. जीवित लोगों की तलाश जारी है और अधिकारियों को मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है. मृतकों की संख्या दिन भर बढ़ने के बीच यहां सामूहिक अंतिम संस्कार किया गया.

 

भारत सहित कई देशों से अंतरराष्ट्रीय राहत दल बचाव कार्य के लिए नेपाल पहुंच गये हैं. आपदा के बाद नेपाल में आपातकाल घोषित कर दिया गया है. शनिवार को आए भूकंप को देश के इतिहास में पिछले 80 साल में आया सबसे भयंकर भूकंप बताया जा रहा है.

भारत ने नेपाल में बड़े स्तर पर बचाव और पुनर्वास कार्य में हाथ बंटाया है. भारत ने 13 सैन्य विमान लगाये हैं जो चल अस्पताल, दवाएं, कंबल, 50 टन पानी और अन्य राहत सामग्री लेकर गये हैं.

 

भारत के राष्ट्रीय आपदा राहत बल के 700 से ज्यादा आपदा राहत विशेषज्ञों को तैनात किया गया है.

 

एक वरिष्ठ अंतर-मंत्रालयी टीम नेपाल का दौरा कर यह आकलन करेगी कि भारत बचाव अभियान में कैसे और बेहतर तरीके से सहायता कर सकता है.

 

बचावकर्मी अपने हाथों के साथ-साथ भारी उपकरणों से मलबों के नीचे दबे जीवित लोगों की तलाश में जुटे हैं. भूकंप के ताजा झटकों, गरज के साथ बारिश होने, और पर्वत श्रृंखलाओं में हो रही बर्फबारी के कारण बचाव कार्य प्रभावित हुआ है.

 

अधिकारियों ने बताया कि भारतीय दूतावास के एक कर्मचारी की बेटी सहित पांच भारतीय भूकंप में मारे गए हैं.

जब-जब मलबे के नीचे से जीवित बचे लोगों को बाहर निकाला जाता है, लोग काफी खुशी महसूस करते हैं. हालांकि, ज्यादातर शव ही बाहर निकाले जा रहे हैं.

 

नेपाल के अन्य इलाकों की तरह काठमांडो आपदा से हुई तबाही की चुनौती से निपटने में मशक्कत कर रहा है.

 

राजधानी की सड़कें और चौराहे मलबे से अटे पड़े हैं. इस मेट्रोपोलिटन इलाके की आबादी करीब 30 लाख है.

 

संबंधित खबरें-

दुनिया से नेपाल पहुंच रही मदद, 2,500 हुई मृतकों की संख्या 

राष्ट्रीय आपदा घोषित करे सरकार: लालू 

भूकंप आए तो क्या करें, क्या न करें! 

बिहार: भूकंप के मद्देनजर दो दिन स्कूल बंद 

नेपाल में फंसे सैंकड़ो सैलानी 

नेपाल भूकंप: ताजा झटकों के कारण बीच रास्ते से लौटा विमान 

सरकार ने बढ़ाया भूकंप पीड़ितों का मुआवजा  

भूकंप की भविष्यवाणी संभव नहीं: मौसम विभाग 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: nepal_earthquake
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

अब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करेंगी मलाला यूसुफजई!
अब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करेंगी मलाला यूसुफजई!

लंदन: पाकिस्तानी अधिकार कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने आज ‘ए-लेवल’ रिजल्ट हासिल कर लिया. इसके...

सियरा लियोन में भयानक बाढ़, लैंडस्लाइड से 300 से ज्यादा की मौत की खबर
सियरा लियोन में भयानक बाढ़, लैंडस्लाइड से 300 से ज्यादा की मौत की खबर

फ्रीटाउन: सियरा लियोन की राजधानी फ्रीटाउन में भीषण बाढ़ के कारण 105 बच्चों की मौत हो गई. फ्रीटाउन...

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया
अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

वाशिंगटन: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के करीब दो महीने बाद आज अमेरिका...

नेपाल में बाढ़ का कहर, अब तक 120 लोगों की मौत, 60 लाख लोग प्रभावित
नेपाल में बाढ़ का कहर, अब तक 120 लोगों की मौत, 60 लाख लोग प्रभावित

काठमांडो: नेपाल में लगातार बारिश के चलते आई बाढ़ और लैंडस्लाइड  मरने वालों की संख्या बढ़कर 120 हो...

मोदी को ट्रंप का फोन, 'प्रशांत महासागर क्षेत्र में शांति बढ़ाने पर जताई सहमति'
मोदी को ट्रंप का फोन, 'प्रशांत महासागर क्षेत्र में शांति बढ़ाने पर जताई...

वाशिंगटन: व्हाइट हाउस ने कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम नरेन्द्र मोदी एक नई...

भारत, चीन एक दूसरे को हरा नहीं सकते: दलाई लामा
भारत, चीन एक दूसरे को हरा नहीं सकते: दलाई लामा

मुंबई: तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा ने सोमवार को कहा कि भारत और चीन एक दूसरे को हरा नहीं...

पाकिस्तान के क्वेटा शहर में शक्तिशाली बम विस्फोट से 17 की मौत, 30 घायल
पाकिस्तान के क्वेटा शहर में शक्तिशाली बम विस्फोट से 17 की मौत, 30 घायल

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के क्वेटा शहर में सुरक्षा बलों के एक वाहन को निशाना बना कर बम विस्फोट...

पाकिस्तान ने भारत पर 600 से ज़्यादा बार सीजफायर उल्लंघन का आरोप लगाया
पाकिस्तान ने भारत पर 600 से ज़्यादा बार सीजफायर उल्लंघन का आरोप लगाया

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने भारत पर इस साल 600 से ज़्यादा बार सीज़फायर उल्लंघन करने का आरोप लगाया....

विवादित बयान को लेकर अवमानना का सामना कर रहे हैं इमरान खान
विवादित बयान को लेकर अवमानना का सामना कर रहे हैं इमरान खान

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विपक्ष के नेता इमरान खान अदालत की अवमानना (contempt of court) की कार्यवाही का...

नॉर्थ कोरिया को दी गई चेतावनी शायद उतनी कड़ी नहीं रही: ट्रंप
नॉर्थ कोरिया को दी गई चेतावनी शायद उतनी कड़ी नहीं रही: ट्रंप

बेडमिंस्टर: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि नॉर्थ कोरिया पर कड़ी कार्रवाई करने की...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017