भूकंप: नेपाल में मरने वालों संख्या 6,621 हुई

By: | Last Updated: Saturday, 2 May 2015 7:21 AM

काठमांडू: नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप में अब तक मृतकों की संख्या बढ़कर 6,621 पर पहुंच चुकी है. शनिवार को नेपाल के गृह मंत्रालय ने यह जानकारी दी. भूकंप प्रभावित क्षेत्रों से जैसे-जैसे मलबे में दबे शव निकाले जा रहे हैं, मृतकों की संख्या बढ़ती जा रही है. पुलिस ने बताया कि मृतकों में महिलाओं की संख्या काफी अधिक है.

 

नेपाली सेना प्रमुख जनरल गौरव शमशेर राणा ने शुक्रवार को मीडिया को बताया था कि मरने वालों की संख्या 10,000 तक पहुंच सकती है, क्योंकि राहत एवं बचाव कर्मी काठमांडू और अन्य सुदूरवर्ती इलाकों में लगातार मलबे में दबे जीवित बचे लोगों को बचाने और शवों को बाहर निकालने में लगे हुए हैं.

 

शुक्रवार को ध्वस्त हो चुकी मशहूर ऐतिहासिक स्थल धरहरा मीनार के मलबे से 50 शव और निकाले गए. बीते शनिवार को आए 7.9 तीव्रता वाले भूकंप ने नेपाल में व्यापक तबाही मचाई है, जिसमें 10,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं और 12,000 से अधिक घर नष्ट हो गए.

 

नेपाल भूकंप में 1000 यूरोपीय नागरिक अब भी लापता

 

नेपाल में 25 अप्रैल को आए भीषण जलजले से पहले पर्यटक के तौर पर यहां आए 1,000 यूरोपीय नागरिक अब भी लापता हैं. नेपाल में यूरोपीय संघ के राजदूत रेंस्जे टीरिंक ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. टीरिंक ने कहा कि जिन लोगों के बारे में कोई सूचना नहीं है वे ट्रेकर थे और वे नेपाल के लंगतांग और लुक्ला इलाके में रह रहे थे.

 

भूकंप और उसके बाद आए हिमस्खलन के कारण नेपाल के विभिन्न हिस्सों में 12 यूरोपीय नागरिकों की मौत हो चुकी है.

 

काठमांडू के उत्तर में स्थित लांगतांग ट्रेकिंग क्षेत्र है. हिमस्खलन और भूस्खलन से यह इलाका प्रभावित हुआ है. इसके अलावा लुक्ला ट्रेकरों के लिए जंपिग ऑफ प्वाइंट है.

 

वायुसेना ने नेपाल से 3358 लोगों को निकाले

 

नेपाल से निकाले गए लोगों को लेकर भारतीय वायुसेना की एक उड़ान के शुक्रवार को यहां पहुंचने के साथ ही भूकंपग्रस्त देश से वायुसेना द्वारा निकाले गए लोगों की संख्या शुक्रवार को 3,358 पहुंच गई है.

 

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता सुधांशु कार ने ट्वीट में कहा, “काठमांडू से सी-17 की एक उड़ान के पालम पहुंचने के साथ ही वायुसेना द्वारा निकाले गए लोगों की संख्या 3358 हो गई है.” इस बीच भारतीय सेना द्वारा संचालित राहत-एवं बचाव कार्य जारी है. सेना का राहत काफिला सड़क मार्ग से काठमांडू पहुंचना शुरू हो गया है.

 

सेना के पांच उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर पोखरा और उससे लगे इलाकों में बचाव कार्य के लिए लगातार तैनात हैं. अधिकारियों ने कहा कि सेना के विमानों ने गुरुवार को 77 उड़ानें भरी और 94 शव निकाले. इसके अलावा 363 लोगों को बचाया.

 

सेना के हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल सैनिकों को एक जगह से दूसरे जगह पहुंचाने, और दुर्गम इलाकों में राहत सामग्री पहुंचाने के लिए भी किया जा रहा है. सिनामांगल और लागाखेल में स्थापित सेना के अस्थायी अस्पतालों ने गुरुवार को 261 लोगों को चिकित्सा सहायता मुहैया कराई और नौ आपरेशन भी किए.

 

अधिकारियों ने कहा कि इस बीच तंबू, कंबल, तिरपाल और प्लास्टिक चादरें लेकर वाहनों के काफिले सड़क मार्ग से शुक्रवार को काठमांडू पहुंचने शुरू हो गए हैं.अधिकारियों ने कहा कि 550 तंबुओं और दो आरओ संयंत्रों के अलावा 12 टन पानी वायुसेना की उड़ानों से नई दिल्ली से काठमांडू के लिए रवाना किए गए हैं.

 

नेपाल भूकंप: राहत कार्य में शामिल होंगे अमेरिकी हेलीकॉप्टर

 

अमेरिकी सेना भूकंप की त्रासदी झेल रहे नेपाल में राहत-बचाव कार्य में मदद के लिए अपने हेलीकॉप्टर भेजने की तैयारी कर रहा है. समाचार एजेंसी ‘सिन्हुआ’ के मुताबिक, अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि यह कदम इस त्रासदी की घड़ी में नेपाल की सहयता करने और काठमांडू से बाहर के प्रभावित इलाकों में राहत सामग्रियों की आपूर्ति के उद्देश्य से उठाया गया है.

 

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जेफरी राथके ने कहा, “यह सब नेपाल के भूकंप प्रभावित इलाकों में आपात राहत सामग्री की तत्काल आपूर्ति में नेपाल सरकार की मदद करने के लिए किया जाएगा, यह सुनिश्चित किया जाएगा कि राहत सामग्री सुदूरवर्ती इलाकों में भी पहुंचें.”

 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा, अमेरिकी सेना काठमांडू हवाई अड्डे पर संचालन एवं क्रियान्वयन में भी मदद पहुंचाने की तैयारी कर रहा है, ताकि हवाई मार्ग के जरिए पहुंचाई जा रही राहत सामग्री उतारने में तेजी लाई जा सके.

 

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बुधवार को फोन पर नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोईराला से बात कर हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया.

 

नेपाल में 25 अप्रैल को आए 7.9 तीव्रता के भूकंप में 6,300 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 14,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं. अमेरिका भूकंप पीड़ितों के लिए 1.25 करोड़ डॉलर की सहायता राशि और 45 टन राहत सामग्री के साथ लगभग 130 सदस्यीय आपदा सहयोग दल नेपाल भेजेगा.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: New Delhi_Nepal_earthquake_KATHMANDU
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: death Earthquake Kathmandu Nepal New Delhi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017